भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक के बेहद करीबी नरेश शर्मा आप के हुये !

0
417

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक के बेहद करीबी नरेश शर्मा आप के हुये !
भाष्कर द्विवेदी जागो ब्यूरो रिपोर्ट:

हरिद्वार से भाजपा के वरिष्ठ नेता और वर्तमान प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक के बेहद करीबी रहे नरेश शर्मा आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्य मन्त्री अरविंद केजरीवाल के हालिया उत्तराखण्ड दौरे पर विधिवत रूप से आम आदमी पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर ली है!सोचनीय विषय है कि आखिर क्या वजह रही कि दिग्गज नेता मदन कौशिक के बेहद करीबी को ये कदम उठाना पड़ा?जबकि वर्तमान में मदन कौशिक भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष हैं और नरेश शर्मा की हर माँग को पूरा कर सकते थे, लेकिन आखिर क्यों नरेश शर्मा बागी हुये?नरेश शर्मा ने आम आदमी पार्टी की सदस्यता ग्रहण करने से पूर्व अपने ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया कि एक नई पारी की शुरुआत आप सबका आशीर्वाद और इसके बाद उन्होंने विधिवत रूप से अरविंद केजरीवाल के हाथों आम आदमी पार्टी की टोपी पहन कर सदस्यता ग्रहण कर ली। देखने वाली बात होगी कि नरेश शर्मा द्वारा आप पार्टी ज्वाइन करने पर आगामी विधानसभा चुनाव 2022 में हरिद्वार की राजनीति में क्या बदलाव आता है ?क्या नरेश शर्मा मदन कौशिक के अभेद्य दुर्ग को ढहाने में विभीषण की भूमिका अदा करेंगे?आपको बताते चलें कि मदन कौशिक 2002 में हरिद्वार से विधायक बने,इसके बाद 2007, 2012 और 2017 का विधानसभा चुनाव भी हरिद्वार से जीत दर्ज कर लगातार विधानसभा पहुँचते रहे हैं ,कौशिक 2007 से 2012 तक पूर्व मुख्यमन्त्री बीसी खंडूरी और रमेश पोखरियाल निशंक की सरकार में भी मन्त्री रहे हैं,इसके बाद वे 2017 में त्रिवेंद्र सिंह रावत सरकार में कैबिनेट मन्त्री बने और वर्तमान में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष हैं।आज के हालातों में भाजपा की नीतियों और अव्यवस्थाओं से नाराज़ जनता और भाजपा के बड़े बड़े दिग्गज अपने विधानसभा क्षेत्रों में जनता के गुस्से का जिस तरह शिकार हो रहे हैं,भाजपा जनहित के मुद्दों का समाधान न कर पाने और अपने वर्तमान प्रदेश अध्यक्ष के मैदानी क्षेत्र के टैग लगे होने व काँग्रेस पार्टी द्वारा ठेठ पहाड़ी प्रदेश अध्यक्ष बनाने से पहाड़ी क्षेत्रों में पिछड़ती नजर आ रही है! भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष पर अब विपक्षियों द्वारा ये आरोप लगाए जा रहे हैं कि जो व्यक्ति अपने परिवार व अपने सगे-संबंधियों की माँग को पूरा नहीं कर पा रहा है,वो कैसे पहाड़ी क्षेत्रों की जन समस्या ओं को दूर कर पायेगा!कुल मिलाकर 2022 में नरेश शर्मा आप के साथ खड़े होकर भाजपा के लिये विभीषण का कार्य कर सकते हैं,लेकिन रावण कौन है ये फैसला लोकतंत्र में जनता के पास ही सुरक्षित रहेगा।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY