दो दिन के मुंडनेश्वर खैरालिंग मेले में उमड़ी हजारों की भीड़..

0
364

दो दिन के मुंडनेश्वर खैरालिंग मेले में उमड़ी हजारों की भीड़..

भगवान सिंह,जागो ब्यूरो रिपोर्ट:

पौड़ी जनपद के कल्जीखाल ब्लॉक के अन्तर्गत दो दिन का मुंडनेश्वर खैरालिंग मेला पारम्परिक उत्साह और उल्लास के साथ सम्पन्न हो गया।दो दिन के इस मेले में दोनों दिन हजारों की संख्या में भक्तों की भीड़ उमड़ी।मुंडनेश्वर खैरालिंग मेला कोविड के कारण इस बार दो वर्ष बाद आयोजित हो रहा था। मेले को भव्य बनाने के लिए मंदिर मेला समिति ने पहले से व्यापक तैयारी की थी। मेला समिति द्वारा मेले के दूसरे दिन स्थानीय महिला मंगल दलों की सांस्कृतिक प्रतियो गिता भी रखी गयी थी, प्रतियोगिता में पौड़ी,सतपुली लेकर आस पास के गाँवों सहित दस महिला मंगल दलों ने प्रतिभाग किया। इस मौके पर विजेता महिला ओं को पुरस्कार भी दिया गया। दो दिवसीय मेले में लम्बे समय बाद पहली बार दूर दूर तक करीब 200 दुकानें सजी थी,जहाँ महिलाओं ने जमकर खरीद दारी की।आपको बतादें कि कल्जीखाल विकासखंड की विभिन्न पट्टियों के हजारों रैवासी/प्रवासी हर साल उत्साह पूर्वक इस मेले में भाग लेते है।परन्तु वैश्विक महामारी करोना के चलते बीते दो साल मेले का आयोजन नही हुआ था। जिस कारण इस साल मेले में बड़ी संख्या में प्रवासी सुख समृद्धि की कमाना लेकर मुंडनेश्वर महादेव के दर्शन करने खैरालिंग पहुंचे। सुबह से ही मेला स्थल से करीब 6 किलोमीटर दूर कल्जीखाल बाजार से भारी जाम लगा रहा। मेले में यातायात एवं शांति व्यवस्था की जिम्मेदारी जिला प्रशासन की ओर से तहसीलदार सुशीला कोठियाल को सौंपी गयी थी,वह अकेली ही मुस्तैद दिखी! हालांकि तहसील दार मेले स्थल से पहले कल्जीखाल ब्लॉक मुख्यालय के पास ओवर लोडिंग वाहनों की चैंकिग में व्यस्त रही! जिस कारण सांसद प्रतिनिधि एवं व्यापारी कल्जीखाल संजय पटवाल को एडीएम को फोन करना पढ़ा।उन्होंने बताया कि समस्त व्यापा रियों व जनप्रतिनिधियों ने एसडीएम को जाम से निजात पाने के लिए पहले ही ज्ञापन दे दिया था। लेकिन प्रशासन ने उनकी माँग को गंभीरता से नही लिया। जिस कारण कल्जीखाल से लेकर मुंडनेश्वर मंदिर तक दिन भर जाम की स्थिति बनी रही और मेला आने-जाने वाले श्रद्धालु ओ को बहुत परेशानी झेलनी पड़ी। यहाँ तक की मुख्य अतिथि क्षेत्रीय विधायक राजकुमार पोरी सहित कई जनप्रति निधियों को घंटो जाम में फंसा रहना पढ़ा। प्रशासन ने मेला आयोजन को हल्के में लिया, शाम तक जाम की यह स्थिति थी कि विधायक राज कुमार पोरी,द्वारीखाल प्रमुख एवं संगठन के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र राणा उनकी पत्नी प्रमुख कल्जीखाल बीना राणा,प्रमुख पौड़ी दीपक खुगशाल को वापस पौड़ी जाने के लिए भेटी-बौंसाल होकर जाना पढ़ा। इसके अलावा मंदिर परिसर तक बनी कच्ची सड़क ने भी धूल-मिट्टी से श्रद्धालूओ का जमकर स्वागत किया!इस दौरान मेले में मुख्य अतिथि पौड़ी विधायक राजकुमार पोरी, प्रमुख संगठन के प्रदेश अध्यक्ष व द्वारिखाल ब्लॉक के प्रमुख महेंद्र राणा उनकी पत्नी कल्जीखाल प्रमुख बीना राणा, जिला पंचायत सदस्य गड़कोट संजय मिंटू डबराल,जिला पंचायत सदस्य थैर गौरव,मयंक बिष्ट,प्रसिद्ध ढोलक वादक सुभाष पांडे,गड़वाली फिल्मों के निर्देशक गणेश वीरान, लोक गायक अनिल बिष्ट, संस्कृत कर्मी एवं पूर्व जिला पंचायत सदस्य त्रिभुवन उनियाल, जेष्ठ उपप्रमुख अनिल नेगी,मंदिर समिति के अध्यक्ष बलवंत नेगी, उपाध्यक्ष दिनेश असवाल,जयेंद्र प्रसाद जय माता की,सुदामा प्रसाद आदि मौजूद रहे। मंच का संचालन मनीष खुगशाल स्वतंत्र ने किया।इस अवसर पर कल्जी खाल ब्लॉक प्रमुख बीना राणा एवं उनके पति द्वारीखाल ब्लॉक प्रमुख महेंद्र राणा ने मेला आयोजन समिति को 11-11 हजार रुपये की नगद धनराशि एवं पौड़ी प्रमुख ने भी मेला समिति को 5 हजार रुपये की नगद धनराशि बतौर सहयोग और उत्साह वर्धन भेंट की।कुल मिलाकर दो वर्ष के अंतराल के बाद आयोजित मुंडनेश्वर खैरालिंग मेला अपार उत्साह और उल्लास के साथ सम्पन्न हो गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here