बीजेपी के पूर्व विधायक कैलाश गहतोड़ी का निधन, सीएम ने जताया शोक…

0
14

उत्तराखंड बीजेपी से दुखद खबर आ रही है। बताया जा रहा है कि बीजेपी के पूर्व विधायक कैलाश गहतोड़ी का आज सुबह देहरादून में निधन हो गया। उन्होंने सीएम पुष्कर सिंह के लिए अपनी विधायक की सीट छोड़ी थी इतना ही नहीं वह राज्य वन विकास निगम के अध्यक्ष भी थे। वह लंबे समय से गंभीर बीमारी से जुझ रहे थे, इलाज के दौरान आज उन्होंने दम तोड़ दिया। उनके निधन पर  मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी सहित कई दिग्गजों ने गहरा दुख जताया है।

बता दें कि, कैलाश गहतोड़ी 2017 और 2022 में चंपावत से चुनाव जीते थे। इसके बाद 2022 में ही उन्होंने सीएम धामी के लिए अपनी सीट से इस्तीफा दिया था।  2022 विधानसभा चुनाव में चंपावत से बीजेपी के टिकट पर चुनाव जीत कर आए थे। पार्टी द्वारा खटीमा से चुनाव हारने के बाद भी पुष्कर सिंह धामी को मुख्यमंत्री चुने जाने पर चंपावत से कैलाश गहतोड़ी ने उनके लिए सीट छोड़ी थी। मुख्यमंत्री के रूप में पुष्कर सिंह धामी ने चंपावत से उपचुनाव लड़ा था। कैलाश गहतोड़ी को उनके सीट छोड़ने का इनाम भी सरकार की तरफ से मिला था. उन्हें वन विकास निगम के अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंप गई थी.

सीएम धामी ने गहतोड़ी के निधन पर शोक व्यक्त कर एक्स पर पोस्ट कर लिखा कि वन विकास निगम के अध्यक्ष, पूर्व विधायक, प्रिय मित्र और बड़े भाई कैलाश गहतोड़ी जी के निधन का पीड़ादायक समाचार सुन स्तब्ध हूं। कैलाश जी का जाना संगठन, प्रदेश के साथ-साथ मेरे लिए भी व्यक्तिगत क्षति है। उन्होंने कहा कि इस असीम कष्ट को शब्दों में बयान नहीं कर पा रहा हूं। आपने अपना पूरा जीवन जनसेवा में खपा दिया, आप एक आदर्श जनप्रतिनिधि के रूप में सदैव याद किए जाएंगे। एक विधायक के रूप में चम्पावत क्षेत्र के विकास के प्रति आपका समर्पण हमारे लिए प्रेरणास्रोत है।

वहीं मुख्यमंत्री ने आगे लिखा कि राजनीति और जनसेवा के क्षेत्र में आपसे मिला सानिध्य इतना आत्मीय और हृदय के निकट था कि आज विश्वास करना अत्यंत कठिन है कि आप हमारे बीच नहीं हैं। एक अच्छे मित्र और बड़े भाई के रूप में आप सदैव याद आएंगे। चम्पावत के विकास को लेकर जो आपके संकल्प थे उन्हें पूर्ण करने की दिशा में हम समर्पित होकर कार्य करेंगे। उन्होंने कहा कि ईश्वर से पुण्यात्मा को श्रीचरणों में स्थान एवं शोक संतप्त परिजनों को यह अपार कष्ट सहने की शक्ति प्रदान करने की कामना करता हूं। विनम्र श्रद्धांजलि!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here