कठुआ आतंकी हमले में उत्तराखण्ड के पाँच जवान शहीद …

0
86

उत्तराखण्ड के पाँच जवानों ने जम्मू कश्मीर के कठुआ में हुए आतंकी हमले में देश के लिए अपने प्राणों की आहुति दे दी है।पाँच शहीद जवानों में दो पौड़ी,दो टिहरी और एक रुद्रप्रयाग का है।जवानों की शहादत से उत्तराखण्ड में शोक की लहर है।लोगों में आतंकवादियों के खिलाफ जबरदस्त आक्रोश है ।जम्मू कश्मीर के कठुआ में आतंकी हमले में टिहरी जिले के जांबाज आदर्श नेगी शहीद हुए हैं,कीर्तिनगर में थाती डागर निवासी आदर्श नेगी राइफलमैन के पद पर तैनात थे।26 वर्षीय आदर्श टिहरी जिले के कीर्तिनगर ब्लॉक के थाती डागर गाँव के रहने वाले थे।उनके पिता दलबीर सिंह नेगी गाँव में ही खेतीबाड़ी का काम करते हैं।आदर्श की बारहवीं तक की पढ़ाई राजकीय इंटर कॉलेज पिपलीधार से हुई,2019 में वह गढ़वाल राइफल्स में भर्ती हो गये,उस दौरान वह गढ़वाल विश्वविद्यालय से बीएससी द्वितीय वर्ष की पढ़ाई कर रहे थे।जम्मू कश्मीर के कठुआ में हुए आतंकी हमले में रुद्रप्रयाग जिले के कांडाखाल निवासी आनंद सिंह रावत भी शहीद हुए हैं।आनंद सिंह रावत की उम्र 41 साल थी,वो सेना में नायब सुबेदार के पद पर थे।उनकी शहादत की खबर आने के बाद से परिवार में मातम का माहौल है,शहीद का परिवार देहरादून में रहता है,उनकी माँ और भाई गाँव में रहते हैं।पौड़ी जिले के हवलदार कमल सिंह भी कठुआ आतंकी हमले में शहीद हुए हैं, हवलदार कमल सिंह लैंसडाउन तहसील के पापरी गाँव के निवासी थे।पौड़ी गढ़वाल जिले के राइफलमैन अनुज नेगी भी कठुआ आतंकी हमले में शहीद हो गए हैं।अनुज नेगी रिखणीखाल तालुक के डोबरिया गाँव के निवासी थे। टिहरी गढ़वाल जिले के नायक विनोद सिंह भी कठुआ आतंकी हमले में शहीद हुए हैं,विनोद सिंह जाखणीधार तालुक के चौंद जसपुर गाँव के रहने वाले थे। शहीद विनोद सिंह का परिवार देहरादून के भनियावाला में रहता है। आतंकी हमले की घटना सोमवार दोपहर बाद हुई थी,जब बिलावर उप जिले में बदनोता के नाले के पास सेना के 22 गढ़वाल राइफल्स के वाहन पर आतंकियों ने हमला कर दिया,सेना का यह वाहन इलाके में गश्त पर था।वाहन में दस जवान सवार थे,आतंकियों ने पहले ग्रेनेड फेंका,इसके बाद सेना के वाहन पर अंधाधुंध गोलीबारी शुरू कर दी थी। इस आतंकी हमले में सेना के 5 जवान शहीद हो गये हैं और 5 जवान घायल हैं।रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने देश के पाँच जवानों की शहादत पर दुख जताया है,उन्होंने कहा- मैं बदनोटा, कठुआ (जम्मू-कश्मीर) में हुए आतंकवादी हमले में हमारे पाँच बहादुर भारतीय सेना के जवानों की मौत से बहुत दुखी हूं,शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं,राष्ट्र इस कठिन समय में उनके साथ मजबूती से खड़ा है।आतंकवाद विरोधी अभियान जारी है और हमारे सैनिक क्षेत्र में शांति और व्यवस्था कायम करने के लिए दृढ़ संकल्पित हैं। 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here