एनआईटी श्रीनगर विधानसभा में न बनने पर होगा जन आन्दोलन -गणेश गोदियाल

0
190

एनआईटी श्रीनगर विधानसभा में न बनने पर होगा जन आन्दोलन -गणेश गोदियाल
जागो ब्यूरो रिपोर्ट:

श्रीनगर से पूर्व काँग्रेस विधायक और बद्री-केदार मन्दिर समिति के पूर्व अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने उत्तराखण्ड हाइकोर्ट के एनआईटी को सुमाड़ी से अन्यत्र शिफ्ट किये जाने के आदेश को लेकर स्थानीय विधायक और उच्च शिक्षा मन्त्री डॉ धन सिंह रावत और मुख़्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत को आड़े हाथ लिया है,उन्होंने कहा कि राज्य सरकार का एनआईटी को पहाड़ में बनाने का मन ही नहीं है,जिस वजह से हाईकोर्ट में राज्य सरकार द्वारा एनआईटी को सुमाड़ी में ही बनाये जाने की मजबूत पैरवी नहीं की गयी,जिसका नतीजा सामने है,उन्होंने कहा कि राज्य सरकार हाईकोर्ट के आदेश को सुप्रीमकोर्ट में चुनौती दे,अगर किसी भी सूरत में एनआईटी सुमाड़ी में नहीं बनता तो काँग्रेस जन आन्दोलन छेड़ेगी,जिसकी शुरुवात सोमवार को इसके विरोधस्वरूप श्रीनगर में सांकेतिक धरने से कर दी जायेगी, दरअसल एनआईटी के एक पूर्व छात्र जसवीर सिंह ने नैनीताल हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर कर कहा था कि कॉलेज को बने करीब नौ साल से अधिक का समय हो गया है,लेकिन आज तक छात्रों को एनआईटी का स्थाई कैंपस नहीं मिला है, जिस वजह से छात्र अपनी जान हथेली पर रखकर खंडहर पड़े भवनों में पढ़ने को मजबूर हैं,जहां कभी भी कोई बड़ा हादसा हो सकता है,जिसपर हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को एनआईटी के लिये सुमाड़ी से अन्यत्र भूमि ढूंढने का आदेश दिया है।जन सामान्य भी हाईकोर्ट के इस तरह के आदेश को डबल इन्जन, राज्य और केन्द्र सरकार द्वारा एनआईटी का सुमाड़ी में जल्द निर्माण करने में हीलाहवाली को मान रहा है,हैरानी तब और बढ़ जाती है,जब मौजूदा समय में केन्द्र सरकार के मानव संसाधन विकास मन्त्री रमेश पोखरियाल “निशंक” भी उत्तराखण्ड के गढ़वाल क्षेत्र के इसी इलाके से आते हैं।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY