14 वीं गढ़वाल राइफल्स ने अपने 46 वें स्थापना दिवस के अवसर पर अपने पूर्व सैनिक रमेश बौड़ाई को किया संम्मानित..

0
210
14 वीं गढ़वाल राइफल्स ने अपने 46 वें स्थापना दिवस के अवसर पर अपने पूर्व सैनिक रमेश बौड़ाई को किया संम्मानित..
जागो ब्यूरो रिपोर्ट:
भारतीय सेना की 14 वीं गढ़वाल राइफल्स ने अपने 46 वें स्थापना दिवस को धूमधाम से मनाया। इस मौके पर बटालियन ने अपने पूर्व सैनिक रमेश चन्द्र बौड़ाई को भी आमंत्रित किया और पर्यावरण के क्षेत्र में उनके द्वारा लगातार बेहतरीन काम करने के लिए उन्हें सम्मानित किया।बौड़ाई को सम्मानित करने के बाद 14 वीं गढ़वाल राइफल के अधिकारियों ने अपने बीस साल पहले रिटायर सैनिक के साथ मिलकर वृक्षारोपण भी किया!मेरठ छावनी में आयोजित इस कार्यक्रम के दौरान 14 वीं गढ़वाल राइफल्स के इस कार्यक्रम में,सबसे पहले पूर्व सैनिक रमेश बौड़ाई को 10 हजार रुपये का चेक देते हुए सम्मानित किया गया और फ़िर पर्यावरण के क्षेत्र में बौड़ाई द्वारा किये जा रहे कामों की भरपूर सराहना करते हुये, वनों में हर साल लगने वाली आग पर क़ाबू पाने के लिये जनता को जागरुक करने के लिये बौड़ाई को एक सम्मान पत्र भी दिया गया!
सम्मानित किए जाने के बाद 14 वीं गढ़वाल राइफल के कमांडिंग ऑफिसर ने बौड़ाई को मंच पर आमंत्रित किया और अपने जवानों को पर्यावरण को लेकर संदेश देने को कहा,पर्यावरणविद् बौड़ाई ने अपनी बटालियन के जवानों को संबोधित करते हुए कहा कि,उन्हें किसी न किसी तरह से पर्यावरण संरक्षण के अभियान से  जुड़ना चाहिये,वो जवान हो या फिर कोई अधिकारी,जिसे जब भी मौका मिले उसे पर्यावरण और हिमालय को बचाने के लिए अपना कुछ न कुछ योगदान जरूर देना चाहिये। इस अवसर पर बौड़ाई ने जवानों से देश में चल रही मौजूदा स्थिति को लेकर भी चर्चा भी की,शहीदों के नाम पर वृक्षारोपण कार्यक्रम के तहत,स्थापना दिवस के इस अवसर पर गढ़वाल राइफल की 14 वीं बटालियन के कमांडिंग ऑफिसर समेत तमाम अधिकारियों और जवानों ने रमेश बौड़ाई के साथ मिलकर कई पेड़ भी लगाये।
जवानों ने छावनी परिसर में बटालियन के शहीदों के नाम पर लगाये गये पेड़ों के रखरखाव की पूरी तरह देखभाल की जिम्मेदारी भी ली। अपनी बटालियन द्वारा आमंत्रित कर सम्मानित किए जाने को लेकर पर्यावरणविद् रमेश बौड़ाई ने बटालियन का धन्यवाद भी ज्ञापित किया।धन्यवाद ज्ञापित करते हुये, उन्होंने कहा कि, मुझे 14 गढ़वाल राइफल द्वारा आयोजित स्थापना दिवस पर पौधारोपण कार्यक्रम में शामिल होने का मौका मिलने पर बेहद खुशी है,उन्होंने अपने जीवन के 20 साल मातृभूमि की रक्षा और14 वी  गढ़वाल राइफल को देश सेवा के लिये की समर्पित किये और आज वे अपनी पल्टन गढ़वाल राइफल द्वारा संम्मानित केकिये जाने पर वे पल्टन के ब हुत-बहुत शुक्रगुजार है।
जो देश की सीमाओं के साथ-साथ पर्यावरण के प्रति जागरुकता और अपनी जिम्मेदारी निभाने के लिए तत्पर हैं,उन्होंने कहा कि वे भगवान बद्री विशाल से प्रार्थना करते हैं कि, उनकी रेजीमेंट गढ़वाल राइफल,अपने शौर्य और पराक्रम से दिन दोगुनी और रात चौगुनी प्रगति कर दुनिया में अलग पहचान बनाये।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY