भ्रष्टाचार की हद,आप के सीएम उम्मीदवार कर्नल कोठियाल को रिश्वत लेकर बना दिया सिक्योरिटी गार्ड !

0
176
भ्रष्टाचार की हद,आप के सीएम उम्मीदवार कर्नल कोठियाल को रिश्वत लेकर बना दिया सिक्योरिटी गार्ड !
जागो ब्यूरो रिपोर्ट:
मंगलवार को आप वरिष्ठ नेता कर्नल अजय कोठियाल हाथ में लंच बाक्स लेकर सचिवालय में नौकरी ज्‍वाइन करने पहुंचे!कर्नल अजय कोठियाल ने भाजपा सरकार पर नौकरी के नाम पर डोनेशन का धंधा खोलने का आरोप लगाया।कर्नल कोठियाल ने बताया कि उन्हें महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग में चंपावत में सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी मिली है!कर्नल कोठियाल ने इस सम्बन्ध में दस्तावेज भी पेश किये! जिसमें आउटसोर्सिंग कंपनी ने उनको चंपावत में गार्ड की नौकरी का ज्वाइनिंग लेटर भेजा हुआ है! इस नौकरी के लिये ए स्क्वायर नाम की आउटसोर्सिंग कम्पनी ने उनसे 25 हजार रुपये की डोनेशन/रिश्वत ली है।
एजेंसी से उन्हें 8500 मासिक वेतन पर अपॉइंटमेंट लेटर जारी किया है। उन्होंने कहा कि अब जब उन्हें चौकीदार की नौकरी मिल ही गयी है,तो वे युवाओं के हक के लिए चौकीदार बनेंगे।कर्नल कोठियाल ने कहा है कि बेरोजगारों के साथ नौकरी के नाम पर कमीशनखोरी कर उनकी मजबूरी का फ़ायदा उठा उनसे अवैध पैसा वसूला जा रहा है। उन्होंने कहा कि बेरोजगारों को न्याय मिलने तक उनकी यह लड़ाई प्रदेश में जारी रहेगी,अगर सरकार की नाक के नीचे इस तरह के कृत्य हो रहे हैं तो इसमें सरकार भी अपनी जिम्मेदारी से बच नहीं सकती।इस संबंध में उन्होंने सचिवालय में महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग के अपर सचिव वीके मिश्रा से मुलाकात की और अपना पक्ष रखा। अपर सचिव ने कहा है कि मामले की जांच की जायेगी।बता दें कि बेरोजगार युवाओं को आउटसोर्स के जरिए नौकरी देने के सरकार के दावे हवा-हवाई साबित हो रहे हैं। जिन युवाओं को आउटसोर्स के जरिये नौकरियां दी गई है,उन युवाओं को महीनों से सैलरी नहीं मिली है और जो मिली भी है उसमें भी जीएसटी काटी जा रही है । बेरोजगार युवाओं की इसी माँग को लेकर आप नेता कर्नल अजय कोठियाल ने सचिवालय गेट पर प्रदर्शन भी किया और सरकार से जवाब माँगा।आप नेता ने कहा कि उन्हें भी ऐसे ही आउटसोर्सिंग एजेंसी द्वारा एक सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी ऑफर हुई है,ऐसे में अब वह सही मायने में इन बेरोजगार युवाओं का चौकीदार बनने का काम करेंगे और सरकार से जानेंगे कि आखिर युवाओं को रोज़गार क्यों नहीं मिल पा रहे हैं?

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY