कैसे लागू हो भू कानून जब वन विभाग ही ख़ुद अपनी भूमि पर करवा रहा हो अवैध कब्जा !

0
513

कैसे लागू हो भू कानून जब वन विभाग ही ख़ुद अपनी भूमि पर करवा रहा हो अवैध कब्जा !

गौरव तिवारी,जागो ब्यूरो रिपोर्ट:

एक ओर जँहा हरेला पर्व पर पूरे प्रदेश में बड़े पैमाने पर वृक्षारोपण हो रहा है,जिससे पर्यावरण संतुलन बना रहे और कोविड महामारी की सम्भावित तीसरी लहर में,दूसरी लहर की तरह ऑक्सीजन की कमी से भारी संख्या में लोग काल का ग्रास न बनें !वंही इस सोच के ठीक विपरीत,देहरादून वन प्रभाग की ऋषिकेश रेंज के मनसा देवी बीट पर वन विभाग की भूमि पर अतिक्रमण कर अवैध निर्माण जारी है !अब इसे विभाग की मिली भगत कहें या लापरवाही ये तो विभागीय कर्मचारी या अधिकारी ही जानें,पर आपको यह बता दें कि इसी जगह पर अवैध कब्जा किये जाने की शिकायत लगभग एक वर्ष पूर्व विभाग के अधिकारियों व मुख्यमंत्री हेल्पलाइन पर की जा चुकी है,लेकिन शिकायत पर विभाग खानापूरी कर लीपापोती कर लेता है।कुछ महीने पहले बीती पन्द्रह जनवरी 2021को,जब कुछ मीडियाकर्मी इसी जगह पर कवरेज करने गये थे तो वहां भूमाफिया गोपाल नेगी व जितेंद्र भट्ट ने उनपर अपने साथियों के साथ जानलेवा हमला व लूटपाट की थी !जिसमे पत्रकार शहजाद अली को गम्भीर चोटें आईं व एक अन्य पत्रकार विजय रावत के दो मोबाइल फोन भी लूट लिये गये थे !जिनका कोई भी सुराग़ पुलिस अभी तक नही लगा पायी है,यँहा तक कि पुलिस ने राजनीतिक दबाव में लूट की घटना को ही मानने से इनकार कर दिया।हालांकि तब देहरादून वन प्रभाग के प्रभारी राजीव धीमान ने पाँच बीघा भूमि से कब्जा हटवा कर उस भूमि पर हो रहे निर्माण को ध्वस्त कर गोपाल नेगी पर कार्यवाही भी की थी ! परंतु अब उस भूमि के दूसरे छोर पर जो कि वन की ओर है पर एक पक्के मकान का निर्माण हो गया है ,अब पक्के मकान का निर्माण कोई एक दो दिन में तो हो नहीं सकता !इसके लिए कम से कम दो से चार माह का समय तो लगता ही है,तो क्या माना जाय कि इस भूमि पर वन विभाग का कोई कर्मचारी गया ही नहीं होगा ? या जा कर भी कुछ ले देकर अपना मुंह बंद कर दिया व अधि कारियों को इस बारे में कोई जानकारी भी नहीं दी ?अब देखना है कि “जागो उत्तराखण्ड ” के इस खुलासे के बाद क्या वन विभाग जागता है या पूर्ववत पूरे प्रकरण पर फ़िर से आँखें मूँद लेता है या दूसरे शब्दों में कहें तो भूमाफिया के आगे फ़िर से नतमस्तक हो जाता है !

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY