पी टी ए शिक्षक ने लगाया सरकार में पक्षपात पूर्ण व्यवहार का आरोप। 

0
71

पी.टी.ए. शिक्षकों ने लगाया  उत्तराखंड सरकार में पक्षपात पूर्ण व्यवहार का आरोप। 

   स्वप्निल धस्माना ,संवाददाता ,जागो उत्तराखंड पौड़ी,

पौडी- असाशकिय सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों के पीटीए शिक्षकों द्वारा आज पौड़ी मुख्यालय में बैठक का आयोजन किया गया जिसमें पौड़ी जनपद के पीटीए शिक्षकों द्वारा सरकार पर अनदेखी का आरोप लगाया है।
पीटीए शिक्षकों का कहना है की असाशकीय सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों में जब सरकार द्वारा सीधी भर्ती पर रोक लगा दी गई थी, तब अविभावक शिक्षक संघ व प्रबंध समिति द्वारा छात्र हित को देखते हुए बहुत कम मानदेय पर पूर्ण योग्यता धारी शिक्षकों की नियुक्ति की गई थी। जिन्हे बाद में राजकीय मानदेय दिया जाने का प्रावधान है। तथा वर्तमान सरकार द्वारा कुछ जनपद के युवाओं को मानदेय की श्रेणी में लाया जा चुका है लेकिन पौड़ी जनपद के पीटीए शिक्षकों के बार बार निवेदन ओर मुलाकात करने के बाद भी राजकीय मानदेय में लाने के लिए शिक्षा अधिकारी ओर शिक्षा मंत्री पक्षपात पूर्ण व्यवहार कर उन्हें अनदेखा कर रहे है जिसके कारण पीटीए शिक्षकों में आक्रोश बढ़ गया है। अभी हाल ही में शिक्षा मंत्री से मुलाकात कर पीटीए शिक्षकों ने कट आफ डेट बढ़ाने संबंधी पत्र सोंपा था और उन्हें आश्वासन भी दिया गया था, लेकिन शिक्षा मंत्री द्वारा गेस्ट टीचरों के मानदेय में वृद्धि की गई और उन्हें अनदेखा किया जा रहा है। जिस कारण पौड़ी जनपद के युवाओं में रोश की स्थिति उत्पन्न हो गई है। पी टी ए शिक्षक संघ के जिला अध्यक्ष सुनील धस्माना ओर महामंत्री कैलाश चन्द्र ने वर्तमान सरकार को चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर पीटीए शिक्षकों के साथ अन्याय होता है तो वह पूर्ण रूप से सरकार का विरोध करेगी तथा अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठेगी। बैठक में डबल सिंह, संदीप, सरोज, परमेश्वरी कण्डवाल, विनीत पांथरी, राकेश, प्रमोद आदि शिष्ट मण्डल के सदस्य उपस्थित थे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY