उत्तराखंड में मौसम विभाग की चेतावनी सटिक साबित, बारिश और आंधी ने कहर बरपाया कहर, तीन की मौत…

0
40

उत्तराखंड में मौसम विभाग की चेतावनी सटिक साबित हो गई है। देर रात आई बारिश और आंधी ने कहर बरपाया। इस दौरान जहां कई जगह पेड़ गिरने से लोगों की मौत हो गई तो वहीं आकाशिय बिजली गिरने से कई मवेशी भी मर गए। बारिश से जन-जीवन अवरुद्ध हो गया। कई मार्ग बाधित बताए जा रहे है। वहीं अगले दो दिन और ऐसा ही मौसम रह सकता है ऐसे में लोगों से सावधानी बरतने की अपील की गई है।

मीडिया रिपोर्टस के अनुसार हरिद्वार में बीते देर शाम तेज आंधी-तूफान के चलते ज्वालापुर स्थित अंसारी मार्केट के निकट करीब 100 साल पुराना एक पीपल का पेड़ उखड़ कर मकान पर गिर गया। बारिश से बचने के लिए पीपल के पेड़ के नीचे कई लोग खड़े थे, जिसकी जद में आने से एक बच्चे की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। बच्चे के शव को करीब तीन घंटे बाद पेड़ को काटकर निकाला गया। वहीं घायलों को जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है,वहीं पेड़ के नीचे खड़े करीब दर्जनभर वाहन भी क्षतिग्रस्त हो गए।

वहीं आंधी तूफान के चलते हरिद्वार के चमगादर टापू क्षेत्र में भी पेड़ गिरने से हरिद्वार घूमने आए सोनीपत हरियाणा के एक युवक की मौके पर ही मौत हो गई। मृतक की पहचान  योगेश (42) पुत्र राम मेहर, निवासी ब्रह्मना, थाना गन्नौर, सोनीपत हरियाणा के रूप में हुई है। वहीं हल्द्वानी हल्द्वानी के रामपुर रोड देवलचौड़ हाईवे पर कार पर पेड़ गिरने से हाईकोर्ट के अधिवक्ता तनुज सेमवाल की दर्दनाक मौत हो गई।  सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने किसी तरह शव को बाहर निकाल और पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

बताया जा रहा है कि देर रात आए तेज आंधी से कई पेड़ धराशायी हो गए और बिजली के पोल भी तार समेत टूटकर सड़क पर इधर-उधर गिरे हुए हैं। घटना के दौरान हाईवे पर कई घंटों तक जाम लग गया। उत्तरकाशी में आकाशिय बिजली गिरने से कई मवेशी उसकी चपेट में आ गए । उत्तरकाशी में महेंद्र सिंह की 19 बकरियों, हुकम सिंह की दो और नारायण सिंह की पांच बकरियों की जंगल में बिजली गिरने से मौत हो गई। वहीं, मैदानी इलाकों में आज भी गर्मी से लोग बेहाल रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here