गरीब बच्चों के लिए खोला गया नाॅलेज डवलपमेंट और इनोवेटिव स्कील सेंटर

0
19

देहरादून । गरीब परिवार के बच्चे जो शिक्षा से वंचित रह जाते है उनके लिए रविवार को लखीबाग मुस्लिम कालोनी में उदय नया सवेरा संस्था देहरादून व कास फाउंडेशन मुम्बई के संयुक्त तत्वावधान में नाॅलेज डवलपमेंट और इनोवेटिव स्कील सेंटर खोला गया। जिसका उद्घाटन मुख्य अतिथि डाॅ0 ज्योति मारवा द्वारा किया गया।
मुख्य अतिथि डाॅ0 ज्योति मारवा जो आर्गेनिक फामिंग और महिला रोजगार के क्षेत्र में कार्य कर रही है। उन्होंने नया सवेरा संस्था देहरादून व कास फाउंडेशन मुम्बई द्वारा खोले गये नाॅलेज डवलपमेंट और इनोवेटिव स्कील सेंटर की सराहना करते हुए उन्हें शुभकामनाएं दी ताकि वे देहरादून के अन्य क्षेत्रों में भी इस तरह के गरीब बच्चों के लिए सेंटर खोलें। अवकाश जाधव कास फाउंडेशन संस्था के संस्थापक विश्वविद्यालय मुम्बई के प्रोफेसर होने के साथ ही सोशल वर्क मानवाधिकार के क्षेत्र में कार्य कर रहे हैं। जिन्हें इंटरनेशनल फेडरेशन आॅफ एनजीओ ने कर्मवीर चक्र से भी सम्मानित किया है। शिक्षक व समाज सेवक जाॅन डेविड नंदा उदय नया सवेरा संस्था के संस्थापक ने इस अवसर पर सभी बच्चों व अभिभावको को संबोधित करते हुए कहा कि ये बच्चे हमारे देश का भविष्य हैं। इन्हें शिक्षा का महत्व, संस्कार आदि की जानकारी देना अनिवार्य हैं ताकि आने वाले समय में एक मजबूत स्तम्भ के रूप में उभर कर इस देश की सेवा कर सकें। उन्होंने बताया कि केन्द्र सईद अहमद जमाल के घर में खोला गया है जहां उनकी सुपुत्री अमन प्रवीन बच्चों को शिक्षा-दीक्षा देंगी। उन्होंने कहा कि अभी 20 बच्चों ने पंजीकरण कराया हैं जिन्हें स्लेट, कापी व किताबें, पेंसिल, रबर, आदि सामग्री निशुल्क दी गयी। जाॅन डेविड ने आगे बताया कि इन बच्चों को शिक्षा केन्द्र में एक वक्त का भोजन भी दिया जायेगा। जाॅन ने बताया कि इससे पूर्व 24 जनवरी को भारूवाला क्लेमेंटाउन में बेरोजगार महिलाओं के लिए एक स्वरोजगार वर्कशाॅप का आयोजन किया गया था। जो एक फरवरी से आॅर्गेनिक उत्पदों से दीया, धूप, अगरबत्ती, मोमबत्ती आदि बनाकर स्वरोजगार प्राप्त करेंगी। इस अवसर पर मदन लाल सामाजिक कार्यकर्ता, ईतात खान पार्षद, रेनूका व्यास, हेमन्त उपरेती, आनंद, एकता राव, सीमा नंदा, निशात प्रवीन, सैमयुल पाॅल आदि मौजूद रहे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY