विधाायक ने ली कर्मचारियो व अधिाकारियों की बैठक

0
9

नई टिहरी । प्रदेश सरकार की ओर से टिहरी दुग्धा संघ को पटरी पर लाने के लिए लिए तीन करोड़ का पुनर्जीवन पैकेज मिलने के बाद बुधावार को स्थानीय विधाायक डा- धान सिंह नेगी ने आंचल डेरी जाकर अधिाकारी-कर्मचारियों और प्रबंधान तं= की बैठक ली। उन्होंने वित्तीय अनुशासन को हर हाल में कायम रखने और काश्तकारों और कार्मिकों के भुगतान के लिए वर्कचार्ट बनाने के निर्देश दिए। कहा कि दुग्धा उत्पादक पशुपालकों का बकाया भुगतान घर-घर जाकर किया जाए। कहा कि संघ के प्रति लापरवाही बरतने वाले कार्मिकों सूची तैयार करें। ऐसे कर्मचारियों को हटाया जाए।
बुधावार को टिहरी विधाायक डा- नेगी ने कहा कि दुग्धा संघ को घाटे से उबारने के लिए प्रदेश सरकार की ओर से आखिरी बार तीन करोड़ का पुनर्जीवन पैकेज दिया है। दुग्धा संघ की वित्तीय स्थिति को बेहतर बनाने पर अधिाकारियों और कर्मचारियों को कार्य योजना बनाकर टीम भावना से काम करना चाहिए। कहा कि एक दिसंबर तक जिले में दुग्धा की खरीद के लिए नए मार्गों का सर्वे सुपरवाइजरों के माधयम से से करवाया जाए। उन्होंने दुग्धासंघ अधयक्ष जगदंबा बेलवाल को इस साल गुर्जरों से पीक सीजन में दूधा खरीदने के लक्ष्य पर काम करने को कहा। घुत्तु, घनसाली में दुग्धा समिति का गठन कराने के निर्देश भी दिए। दुग्धा समितियों का मासिक भुगतान अब हर माह की 15 और ट्रांसपोर्टरों का भुगतान 20 तारीख को होगा। दुग्धा उत्पादक समितियों और कर्मचारियों ने तीन करोड़ का पैकेज दिलाने पर विधाायक का स्वागत किया। बैठक में सहायक निदेशक डेरी प्रेमलाल, राज्य कर्मकार बोर्ड के निदेशक विक्रम सिंह कठैत, भूपेंद्र चौहान, बीडीसी सदस्य पंकज बरवाण मौजूद थे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY