गर्व के पलः उत्तराखंड के दो शिक्षकों को मिला राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार 2022…

0
11

National Award: उत्तराखंड को गौरवान्वित करने वाली खबर है। शिक्षक दिवस 2022 के अवसर पर उत्तराखंड के दो शिक्षकों को राष्ट्रीय पुरस्कार 2022  (National Award to Teachers 2022) राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू द्वारा प्रदान किया गया है। प्रधानाचार्य कौस्तुभचंद्र जोशी और प्रवक्ता प्रदीप नेगी को पांच सितंबर को राष्ट्रपति मुर्मु ने दिल्ली में सम्मानित किया है। दोनों शिक्षकों की इस उपलब्धि के लिए हर कोई उन्हें बधाई दें रहा है।

मीडिया रिपोर्टस के अनुसार इस साल देशभर से 46 शिक्षकों को राष्ट्रीय पुरस्कार  से सम्मानित किया गया है। बताया जा रहा है कि प्रत्येक शिक्षक को पुरस्कार में योग्यता प्रमाण पत्र, 50, 000 रुपये और एक सिल्वर मेडल प्रदान किया गया। बताया जा रहा है कि, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त करने वाले 46 शिक्षकों में से दो शिक्षकों, एक उत्तराखंड से और दूसरा अंडमान और निकोबार द्वीप समूह से, विकलांग शिक्षकों के लिए विशेष श्रेणी के तहत सम्मानित किया।

गौरतलब है कि उत्तराखंड से तीन शिक्षकों का नाम राष्ट्रीय पुरस्कार के लिए भेजा गया था। जिसमें नैनीताल में प्रतापपुर-चकालुआ स्थित एसडीएस राजकीय इंटर कालेज के प्रधानाचार्य कौस्तुभचंद्र जोशी और हरिद्वार में बीएचईएल इंटर कालेज में प्रवक्ता पद पर कार्यरत शिक्षक प्रदीप नेगी का चयन हुआ है। बताया जा रहा है कि जोशी की ओपन केटेगरी में चुना गया है। जबकि नेगी स्पेशल कैटेगरी (दिव्यांग) के तहत पुरस्कार के लिए पात्र पाए गए।

बताया जा रहा है कि दोनो शिक्षक राष्ट्रीय आईसीटी पुरस्कार से भी सम्मानित हैं। प्रधानाचार्य जोशी ने अपने सेवाकाल में शिक्षा से जुड़े इंटरनेट कंटेट की मदद से छात्रों के शिक्षण को सरल करने का प्रयास किया। रेन वाटर हार्वेस्टिंग के प्रयोग कर छात्रों केा जल संरक्षण के प्रति जागरूक किया है। तो वहीं शिक्षक प्रदीप नेगी को शिक्षण में नवाचार के लिए जाना जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here