Setriy vidhyak se mile sikshak

0
66

राजकीय मानदेय ना मिलने पर विधायक से मिले अशासकीय मनदेन वंचित पी टी ए शिक्षक:
स्पनिल धस्माना, संवाददाता जागो उत्तराखंड पौड़ी,

नैनीडांडा:- एक ओर जहां उत्तराखंड सरकार कोरोना काल में प्रभावितों को रोजगार देने की बात कर रही है वहीं क‌ई वर्षों से अशासकीय विद्यालयों में पढ़ा रहे स्वयं सेवको को नजर अंदाज किया जा रहा है, लंबे समय से राजकीय मानदेय न मिलने पर आज पौड़ी जनपद के अशासकिय विद्यालय में लगे स्वयं सेवक अपने क्षेत्रिय विधायक से मिले, स्वयं सेवको का कहना है कि सरकार द्वारा 2016 से पूर्व के सारे स्वयं सेवको को सरकारी मानदेय की श्रेणी में लाया जा चुकी हैं। परन्तु वर्ष 2016 के पश्चात लगे स्वयं सेवकों को नजरंदाज कर रही है, कविड-19 में जहां स्कूले बंद है ओर आनलाइन शिक्षण से कार्य लिया जा रहा हे तथा वेतन के नाम पर उन्हे निराश होना पड़ रहा है। शिक्षकों का कहना है कि सरकार से क‌ई बार बात रखने पर भी वह शिक्षकों को मानदेय की परिधि से वंचित कर सालों से स्वयं सेवकों को निराश कर रही है,क्षेत्रिय विधायक दिलिप रावत ने आश्वासन देते हुए कहा की,स्वयं सेवको को उत्तराखंड सरकार निराश नहीं करेगी और पूर्व की भांति उन्हें भी राजकीय मानदेय में शामिल किया जाएगा, क्षेत्रिय विधायक से सुनील बुटोला, विनय नोगांई, सरोज, प्रमेश्वरी, नितिन, कैलास आदि स्वयं सेवको ने मुलाकात की।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY