पौड़ी के निकट “पर्यटन गाँव” की शक़्ल अख्तियार कर रहा है सीकू -घंडियाल क्षेत्र..

0
4532

पौड़ी के निकट “पर्यटन गाँव” की शक़्ल अख्तियार कर रहा है सीकू -घंडियाल क्षेत्र..

भगवान सिंह ,जागो ब्यूरो रिपोर्ट:

पौड़ी शहर से कोटद्वार रोड पर चलते हुये बुआखाल से बाएं चलकर मात्र 16 किलोमीटर दूर सीकू गाँव तेजी से पर्यटन गाँव के रूप में विकसित हो रहा है,इसी मार्ग पर घंडियाल देवता का प्राचीन मंदिर और एक प्राकृतिक खाल/तालाब भी पर्यटन आकर्षण के रूप में मौजूद है।सीकू,सिक्किम हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस और उत्तराखण्ड हाइकोर्ट के पूर्व में जस्टिस रहे और वर्तमान में सिक्किम व उत्तराखण्ड मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष जस्टिस वी.के.बिष्ट जी का मूल गाँव है,बिष्ट बन्धुओं,मुख्य रूप से जस्टिस साहब और उनके बड़े भाई डॉ यशवन्त सिंह बिष्ट जो उत्तराखण्ड के पूर्व डीजी हेल्थ रहे हैं और उनके ख्यातिप्राप्त मित्रों के प्रयासों से ये इलाका तेजी से विकसित होकर पर्यटन गाँव की शक्ल अख्तियार कर रहा है,यँहा पर रेन वाटर हार्वेस्टिंग और पम्पिंग योजना के द्वारा घर-घर पानी पहुंचा दिया गया है चाय की खेती भी यंहा पर हो रही है और एक महत्वाकांक्षी सोलर पावर प्रोजेक्ट भी यँहा पर काम कर रहा है।पिछले एक हफ़्ते से यँहा श्रीमद्भागवत कथा-महायज्ञ का आयोजन किया जा रहा था,जिसका शुक्रवार को भण्डारे के आयोजन के साथ समापन हो गया।इस कार्यक्रम में सम्मिलित होने यँहा पर उत्तराखण्ड हाईकोर्ट के रिटायर्ड कई जज जस्टिस लोकपाल सिंह सपत्नीक,जस्टिस वी एस वर्मा,जस्टिस जे सी एस रावत,पूर्व सीएमओ डॉ पुरोहित समेत काफ़ी बड़ी संख्या में समाज के प्रतिष्ठित और प्रभावशाली वर्ग के लोग यँहा पहुँचे और धार्मिक आयोजन के साथ-साथ उन्होंने यँहा की मनभावन आबोहवा का भी खूब आनन्द लिया,डॉक्टर यशवन्त सिंह बिष्ट की मूल प्रेरणा से यंहा पर स्थापित भव्य शिव मन्दिर, जिसका शिवलिंग अलौकिक है,धीरे-धीरे शिव के एक दिव्य धाम का रूप ले रहा है।सीकू में लोक निर्माण विभाग का आठ वीआईपी कमरों का एक शानदार गेस्ट हाऊस,पर्यटकों को यँहा आवास हेतु बेहतरीन सुविधा उपलब्ध कराता है,तो स्थानीय युवा कवींद्र बिष्ट द्वारा यँहा पहाड़ी पर स्थापित सोलर प्लांट भी एक आकर्षण है,कुल मिलाकर सीकू पहुँचे सभी गणमान्य अतिथियों ने सीकू की शानदार आबोहवा और ख़ूबसूरती को जिस तरह सराहा है,उससे तय है कि भविष्य में यह पौड़ी के निकट खिर्सू की तर्ज पर एक और पर्यटन गाँव के रूप में विकसित होगा!इस आयोजन के अवसर पर गाँव के प्रवासी इलाहाबाद से आये शिक्षाविद बलराज सिंह बिष्ट,पूर्व भारतीय हॉकी टीम के सदस्य संजय बिष्ट,कैप्टेन बृजमोहन सिंह बिष्ट,कैप्टेन हंसपाल सिंह गुसाईं,कैप्टेन यशवन्त सिंह बिष्ट,कैप्टेन आनन्द सिंह गुसाईं,महावीर सिंह बिष्ट,दिगम्बर सिंह बिष्ट,राम सिंह बिष्ट,दिनेश सिंह बिष्ट,दिनेश सिंह रावत,राजे सिंह, गब्बर सिंह बिष्ट और गाँव से ब्याही गयी बेटियाँ,बहुयें,बच्चे और वरिष्ठ लोग भी बड़ी संख्या में सीकू पहुंचे थे और सभी ने गाँव के लिये कुछ बेहतर करने का संकल्प दोहराया।सीकू गाँव के प्रवासी लोग जीवन में एक कामयाब मुक़ाम हासिल करने के बाद जिसतरह रिवर्स माइग्रेशन कर गाँव के विकास में योगदान कर रहे हैं,वह वीरान होते पहाड़ी गाँवों के उत्तराखण्ड से बाहर रह रहे सक्षम लोगों के लिये एक बेहतरीन रोल मॉडल हो सकता है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY