कारनामा: एम्स मे सुबह जलसाज दो डाक्टर गिरफ्तार, शाम को बत्तमीज नर्सिंग आफिसर का मामला…

0
8

ऋषिकेश। एम्स संचालित होने के दिनों से ही चर्चाओं मे रहता है। स्वास्थ्य सेवाओं मे नये नये आयाम स्थापित करने वाले ऋषिकेश एम्स को मानो किसी की नजर लगी हो। यंहा के कई चिकत्सक,प्रोफेसर कड़ी मेहनत कर स्वास्थ्य सेवाओ को बेहतर बनाने मे दिन रात किये हुए हैं, तो कई चिकित्सक अपने कारनामो से एम्स की छवि को धूमिल करने मे जुटे हैं।

बीते सोमवार को एम्स के दो बदनामी वाले कांड उजागर हुए,दोपहर एमडी की परीक्षा मे नकल कराने के मामले मे गिरफ्तार हुए। पुलिस ने बताया कि पांच आरोपियों मे दो डाक्टर एम्स के थे जो जलसाजो से दो दो लाख मे बिक गए। इस घटनाक्रम की तासीर थोड़ी ठंडी भी न हुई थी कि शाम को एक और बदनामी वाली हरकत सामने आ गई।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार एम्स ऋषिकेश के सर्जरी विभाग में तैनात एक महिला चिकित्सक के साथ आपरेशन के दौरान एक पुरुष नर्सिंग आफिसर ने छेड़खानी कर दी। जानकारी मिलने पर जूनियर और सीनियर डाक्टरों ने मंगलवार की दोपहर ऑफिस के सामने जमकर हंगामा काट दिया। बताया जा रहा है कि इन सभी ने आरोपित नर्सिंग आफिसर पर कार्रवाई की मांग की है।

घटना बीते सोमवार शाम लगभग 7 बजे आपरेशन थिएटर की है। यंहा तैनात नर्सिंग आफिसर सतीश कुमार पर ऑपरेशन के दौरान महिला चिकित्सक के साथ छेड़खानी का आरोप लगाया है। आरोप यह भी हैं कि आफिसर ने डाक्टर को अनुचित मैसेज भी भेजे।

बताया जा रहा है कि महिला चिकित्सक ने इसकी शिकायत अस्पताल के आंतरिक चिकित्सा प्रकोष्ठ में भी की। इसके अलावा इस प्रकार के मामलों के लिए गठित एम्स विशाखा समिति में भी इस पर चर्चा हुई।

पूरे प्रकरण पर दोपहर जूनियर और सीनियर रेजिडेंट डीन कार्यालय के बाहर एकत्र हुए और आरोपित नर्सिंग आफिसर के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की मांग की।

एम्स PRO संदीप कुमार का कहना है कि यह मामला गंभीर है। एम्स प्रशासन द्वारा सख्ती से कदम उठाये जा रहे हैं। नर्सिंग आफिसर संदीप कुमार को निलंबित किये जाने की प्रक्रिया अमल मे लाई जा रही है। जरूरत पड़ने पर कानूनी कार्रवाई भी की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here