यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ केदारनाथ पहुंचे, जाॅलीग्रांट एयरपोर्ट पर सीएम त्रिवेंद्र ने किया स्वागत

0
8

देहरादून । उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार को केदारनाथ पहुंचे। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द सिंह रावत ने योगी आदित्यनाथ का जॉलीग्रांट एयरपोर्ट पर स्वागत किया। उसके बाद मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत एवं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ केदारनाथ धाम के लिए रवाना हुए। वहां उन्होंने बाबा केदार के दर्शन किए और पूजा-अर्चना की। केदारनाथ में चल रहे पुनर्निर्माण कार्यों का भी उन्होंने निरीक्षण किया। सोमवार सुबह दोनों मुख्यमंत्री केदारनाथ मंदिर के कपाट बंद होने के कार्यक्रम में सम्मिलित होंगे। उसके उपरान्त बदरीनाथ पहुंचकर बदरीनाथ मंदिर के दर्शन एवं पूजन करेंगे एवं उत्तर प्रदेश के पर्यटक आवास गृह का शिलान्यास करेंगे।
जॉलीग्रांट एयरपोर्ट पर सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत के अलावा शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक, उच्च शिक्षा राज्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत, विधायक धन सिंह नेगी, मुकेश कोली एवं मुख्य सचिव ओम प्रकाश ने भी उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का स्वागत किया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ करीब सवा दो बजे देहरादून पहुंचे। उसके बाद वह मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत के साथ एयरपोर्ट से ही केदारनाथ के लिए रवाना हो गए। वहां उन्होंने बाबा केदार के दर्शन किए और पूजा-अर्चना की। उन्होंने केदारनाथ में चल रहे पुनर्निर्माण कार्यों का निरीक्षण भी किया। सीएम योगी आदित्यनाथ उत्तराखंड के सीएम के साथ केदारनाथ मंदिर के कपाट बंद होने के कार्यक्रम में शामिल होंगे। भैयादूज के दिन सुबह साढ़े पांच बजे केदारनाथ के कपाट बंद होने के बाद दोनों बदरीनाथ धाम के लिए रवाना होंगे। जहां पर भूमिपूजन कार्यक्रम होना है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर उत्तर प्रदेश पर्यटन विभाग की ओर से बदरीनाथ धाम में एक एकड़ भूमि पर 40 कमरों के पर्यटक आवास गृह का निर्माण कराया जा रहा है। इसकी लागत करीब 11 करोड़ है। इसमें 40 कमरों के साथ रेस्टोरेंट, कांफ्रेंस हाल, डारमेट्री और पार्किंग की सुविधा होगी। इस भवन का निर्माण गढ़वाल (उत्तराखंड) शैली के आर्किटेक्चर और ग्रीन बिल्डिंग के रूप में कराया जा रहा है। यह पर्यटक आवास गृह करीब दो साल में बनकर तैयार होगा। उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश और अन्य राज्यों और विदेशों से आने वाल पर्यटक आवास गृह में रुक सकेंगे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY