उत्तराखंड मानसून- 15वीं वाहिनी, एनडीआरएफ की छह टीमे गढ़वाल, कुमाऊं में तैनात, त्वरित मिलेगी मदद

0
30

देहरादून: उत्तराखंड में बारिश ने कहर मचाया हुआ है। हर ओर से आपदा और हादसों की खबरें आ रही है। ऐसे में मानसून के मद्देनजर आपदा की दृष्टि से एनडीआरएफ की छह टीमों को कमान सौंपी गई है। साथ ही हालातों से निपटने के लिए दो हेलीकॉप्टर भी रेस्क्यू के लिए तैयार किए गए है। बताया जा रहा है कि 15वीं वाहिनी, एनडीआरएफ की छह टीमों को गढ़वाल, कुमाऊं में तैनात किया गया है। वहीं सीएम धामी ने कहा कि हमारे प्रदेश के अंदर आपदाएं आती हैं जिससे काफी नुकसान होता है। इसी को देखते हुए मद्देनजर सरकार काफी सजग है।

मीडिया रिपोर्टस के अनुसार उत्तराखंड में मानसून सीजन के दौरान किसी भी आपदा से निपटने के लिए अति संवेदनशील और संवेदनशील क्षेत्रों में छह टीमों को लगाया है। प्रत्येक टीम में एक विशेष प्रकार की क्षमता है, जो कि अलग-अलग प्रकार की आपदाओं से निपटने के लिए सक्षम है. जिससे कि आपदा के समय त्वरित कार्रवाई करते हुए राहत और बचाव कार्य किए जा सकें। प्रत्येक टीम में 35 सदस्य शामिल रहेंगे।  यह टीमें अल्मोड़ा, पिथौरागढ़, उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग और आरआरसी झाझरा (देहरादून) में समस्त साजो सामान के साथ तैनात रहेंगी।

इसके साथ ही बताया जा रहा है कि एनडीआरएफ की ओर से जिलों में आम लोगों को भी आपदा से निपटने के गुर सिखाए जा रहे हैं। सामुदायिक जागरूकता कार्यक्रम के साथ ही बच्चों को स्कूल सेफ्टी प्रोग्राम के बारे में बताया जा रहा है। इस दौरान राज्य के 26 विद्यालयों में स्कूल सेफ्टी कार्यक्रम आयोजित किए गए हैं। वहीं, उत्तराखंड में तुरंत बचाव और राहत कार्यों के लिए दो हेलीकॉप्टर तैनात किए गए हैं। वहीं सीएम धामी भी लगातार स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं। वो अधिकारियों से पल-पल की अपडेट ले रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here