उत्तराखंडः गंगाघाट पर जब एक ही परिवार के पांच लोगों की जली चिताएं, हर आंख हुई नम…

0
10

Dehradun News: उत्तराखंड की राजधानी देहरादून से सटे रानीपोखरी से दिल दहला देने वाली घटना सामने आई। पांच लोगो की निर्मम हत्या से जहां हर कोई सिहर गया तो वहीं आज गंगाघाट पर जब एक ही परिवार के पांच लोगों की चिताएं जली तो हर आंख नम हो गई। आरोपी के भाई ने ही चिताओं को मुखाग्नि दी। बता दें कि सोमवार 29 अगस्त सुबह घर के मुखिया महेश तिवारी ने अपनी तीन मासूम बेटियों, पत्नी और मां की बर्बरता से हत्या कर दी थी।

मीडिया रिपोर्टस के अनुसार रानीपोखरी के नागाघेर में एक ही परिवार के पांच सदस्यों की निर्मम हत्या के बाद मंगलवार को सभी पांच शवों का ऋषिकेश के मुनिकीरेती स्थित गंगा घाट पर अंतिम संस्कार किया गया है। बताया जा रहा है कि आज अपने ही परिवार के सदस्य की हैवानियत का शिकार हुई दादी व मां के साथ तीन मासूम बेटियां भी एक साथ एक ही घाट पर पंचतत्व में विलीन हो गई।

बताया जा रहा है कि मंगलवार दोपहर में मृतकों के स्वजन के यहां पहुंचने के बाद सभी पांच शवों को अंतिम संस्कार के लिए मुनीकीरेती के पूर्णानंद घाट लाया गया। जहां हत्या आरोपी के सबसे छोटे भाई नरेश तिवारी ने अपनी मां, भाभी सहित तीनों भतीजियों को मुखाग्नि दी। घटना से जहां क्षेत्र में सनसनी है तो वहीं क्षेत्र में शोक की लहर भी है।

गौरतलब है कि देहरादून जिले के रानीपोखरी थाना क्षेत्र में महेश तिवारी का परिवार रहता था। महेश तिवारी वैसे तो मूल रूप से यूपी के रहने वाले हैं। महेश तिवारी ने सोमवार सुबह अपनी 9 साल की बेटी अन्नपूर्णा, 11 साल की सुवर्णा, 15 साल की अपर्णा, पत्नी 38 साल नीतू और 70 साल की मां बीतल देवी की हत्या कर दी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here