अग्निपथ के बवाल के बीच तीनों सेनाओं ने की सयुंक्त प्रेस कांफ्रेस, कहीं ये बड़ी बात…

0
11

दिल्ली: भारतीय सेना का सेना में भर्ती को लेकर लाई गई नई योजना अग्निपथ पर मचे बवाल के बीच बड़ा बयान सामने आया है। तीनों सेनाओं द्वारा की गई संयुक्त प्रेस कांफ्रेस के दौरान सेना ने बयान जारी करते हुए कहा है कि, अग्निपथ योजना को वापस नहीं लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि सेना में बहाली सिर्फ ‘अग्निवीर’ के जरिए ही होगी। सेना में यूथ को बढ़ावा देने के लिए ऐसा किया गया है। अग्निवीर’ को सियाचिन और अन्य क्षेत्रों में वही भत्ता मिलेगा जो नियमित सैनिकों पर लागू होता। अग्निवीर के साथ किसी तरह का भेदभाव नहीं है।

आसान प्वाइंट में जानें सेना ने बम और मोबाइल से क्या समझाया

1- रक्षा मंत्रालय की ओर से ले. ज. अनिल पुरी ने कहा कि सेना में सुधार के लिए नया भर्ती सिस्‍टम क्‍यों लाया गया ? वह सेना की बढ़ती उम्र का हवाला देते हुए कहते हैं कि ‘क्‍या ये अच्‍छा लगता है कि सेना जो देश की रक्षा कर रही है, वह 32 साल की हो?’ पुरी ने कहा कि इसपर कई वरिष्‍ठ सैन्‍य अधिकारियों ने चर्चा की है, विभिन्‍न देशों की स्‍टडी हुई।

2- सेना की ओर से कहा गया कि आज की जेनरेशन हम लोगों से बेहतर है। उसके पास ताकत भी है, जज्बा भी है, जुनून भी है और टेक्नॉलिजी को भी वो बेहतर जानते हैं। सेना ने कहा कि आज का बच्चा मोबाइल के साथ पैदा होता है यानी कि बच्चे छोटे से ही कंप्यूटर और मोबाइल को जानते है। आज की लड़ाई टेक्नॉलिजी पर डिपेंड हो गई है। नई-नई तकनीकि आज आ चुकी हैं। इसके लिए जरूरी है कि हमारा जवान हर तरह से लड़ाई के लिए तैयार रहे।

3- सैन्य मामलों के अतिरिक्त सचिव लेफ्टिनेंट जनरल अरुण पुरी के विभाग लेफ्टिनेंट जनरल अनिल पुरी ने देश की सेवा में बलिदान देने वाले अग्निवीरों को एक करोड़ रुपये का मुआवजा मिलेगा। हर साल लगभग 17,600 लोग तीनों सेवाओं से समय से पहले सेवानिवृत्ति ले रहे हैं। किसी ने कभी उनसे यह पूछने की कोशिश नहीं की कि वे सेवानिवृत्ति के बाद क्या करेंगे।

4- लेफ्टिनेंट जनरल अनिल पुरी ने कहा कि हमें डिमॉग्रैफिक डिविडेंड का फायदा उठाना चाहिए। सेना में युवाओं की जरूरत है। युवाओं में जोश और जज्‍बा होता है। अनिल पुरी ने कहा कि आज जवान को जो पे-अलाउंस मिल रहे हैं, अग्निवीर को उससे ज्‍यादा मिलेंगे।

5- ले. जनरल अनिल पुरी ने कहा, ‘ऐमजॉन-फ्लिपकार्ट का नाम आपने आज सुना है… हम जब से खड़े हुए हैं, तब से यही कर रहे है। बस हम पैकेट की जगह बम लेकर चलते हैं।’

6- अब भारतीय वायुसेना की तरफ से एयर मार्शल एसके झा बोल रहे हैं। उन्‍होंने बताया, IAF में 24 जून से भर्ती प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। ऑनलाइन नोटिफिकेशन उस दिन जारी की जाएगी। एक महीने बाद, 24 जुलाई से फेज 1 एग्‍जाम की प्रक्रिया शुरू होगी। दिसंबर के अंत तक अग्निवीरों के पहले बैच को एनरोल कर लेंगे। 30 दिसंबर से पहले बैच की ट्रेनिंग शुरू हो जाएगी।

7- ले. जनरल अनिल पुरी ने कहा कि ‘अग्निपथ’ योजना के खिलाफ युवाओं को भड़काया गया। उन्‍होंने कोचिंग संचालकों को जिम्‍मेदार बताया। पुरी ने जानकारी दी कि भर्ती में शामिल होने वाले हर अभ्‍यर्थी को यह एफिडेविट देना होगा कि उसने किसी प्रदर्शन में हिस्‍सा नहीं लिया, कोई केस दर्ज नहीं हुआ। ये प्रावधान कर दिए गए हैं।

8- प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में पुरी ने युवाओं से कहा कि ‘जो भी युवा इधर-उधर घूम रहे हैं भटक रहे हैं वह अपना समय बर्बाद नहीं करें क्योंकि किसी के लिए भी फिजिकल टेस्ट पास करना उतना आसान नहीं होता है। उनसे गुजारिश है कि वह अपना पूरा ध्यान अगले महीनों में होने वाले टेस्ट पर लगाएं।’

9- अब भारतीय वायुसेना की तरफ से एयर मार्शल एसके झा बोल रहे हैं। उन्‍होंने बताया, IAF में 24 जून से भर्ती प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। ऑनलाइन नोटिफिकेशन उस दिन जारी की जाएगी। एक महीने बाद, 24 जुलाई से फेज 1 एग्‍जाम की प्रक्रिया शुरू होगी। दिसंबर के अंत तक अग्निवीरों के पहले बैच को एनरोल कर लेंगे। 30 दिसंबर से पहले बैच की ट्रेनिंग शुरू हो जाएगी।

अग्निपथ के बवाल के बीच तीनों सेनाओं ने की सयुंक्त प्रेस कांफ्रेस, कहीं ये बड़ी बात…

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY