बीजेपी कार्यकर्ताओं को किसान बनाकर कृषि बिल के समर्थन में दिल्ली ले जाने वाले शिक्षा मन्त्री अरविंद पाण्डे माफ़ी माँगे:आशुतोष नेगी,प्रदेश प्रवक्ता आप..

0
120

बीजेपी कार्यकर्ताओं को किसान बनाकर कृषि बिल के समर्थन में दिल्ली ले जाने वाले शिक्षा मन्त्री अरविंद पाण्डे माफ़ी माँगे:आशुतोष नेगी,प्रदेश प्रवक्ता आप..
स्वप्निल धस्माना,जागो ब्यूरो रिपोर्ट:

केंद्र सरकार द्वारा लाये गये कृषि बिलों के खिलाफ किसान धरने पर बैठे हैं ,लगातार हो रहे विरोध के बावजूद भी केन्द्र सरकार और किसानों के बीच बातचीत से भी कोई समाधान नहीं निकल पाया है। लेकिन उत्तराखण्ड के बीजेपी नेता किसानों से गद्दारी कर रहे हैं।किसानों के वोट बैंक की राजनीति करने वाले ये नेता आज पहले तो किसानों के ऊपर कृषि को लेकर,काले बिल थोप देते हैं उसके बाद अगर किसान अपने हक़ के लिए सड़कों पर उतरता है तो यही नेता कुछ लोगों को लेकर देश के किसानों के साथ गद्दारी करने से बाज नहीं आते,आप प्रदेश प्रवक्ता आशुतोष नेगी ने बयान जारी करते हुए कहा,एक ओर तो पूरा देश किसानों के प्रदर्शन को देख उनको अपना समर्थन दे रहा है,अन्नदाता आज अपने ऊपर बीजेपी सरकार द्वारा थोपे कृषि बिल के विरोध में ,पिछले 19 दिनों से कडाके की सर्दी में दिल्ली की सडकों पर अपना डेरा डाले हुए हैं,लेकिन उन्हें रोकने के लिए, सरकार हर तरीके के हथकंडे अपना रही है। उनका हौसला कम हो सके इसके लिए उन्हें खालिस्तानी समर्थक और उग्रवादी तक कहा गया, लेकिन किसान अभी भी कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली के बाॅर्डरों पर डटे हुए हैं। किसान कृषि बिल के विरोध में उपवास रख रहे हैं ,पूरा देश का उनको समर्थन मिल रहा है तथा आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी किसानों के समर्थन में उपवास रख रहे हैं,साथ ही उनके आह्वान पर आप कार्यकर्ता भी उत्तराखण्ड में उपवास रख रहे हैं,आप प्रदेश प्रवक्ता आशुतोष नेगी ने प्रदेश के शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे पर निशाना साधते हुए कहा कि,अरविंद पांडे कुछ भाजपा समर्थकों को किसान बताकर केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर से मिलाने दिल्ली पहुंचते है और बिल को लेकर चंद लोगों को आगे करके किसानों के साथ गद्दारी कर रहे हैं,सूबे के शिक्षा मंत्री और बीजेपी नेता अरविंद पाण्डेय देश के किसानों से इस तरह की गद्दारी का आम आदमी पार्टी निंदा करती है और बीजेपी द्वारा किसानों को इस तरह बेइज्जत करने के लिए उनसे माफी मांगने की मांग करती है,आप प्रवक्ता ने अरविंद पाण्डेय पर आरोप लगाया कि शिक्षा मन्त्री के रूप में भी वे पौड़ी के मुख्य शिक्षा अधिकारी के अशासकीय विद्यालयों में नियुक्ति के लिये पैसे लेते पकड़े जाने व चौबट्टाखाल के विद्यालयों में कई साल पहले बन्द हुयी अपट्रान कम्पनी के एलईडी लगाने के दोषी करार दिये गये भ्रष्ट अधिकारी पर कोई कार्यवाही न कर उसे बचा कर भ्रस्टाचार को बढ़ावा दे रहे हैं,आप प्रवक्ता ने कहा कि वे जानना चाहते हैं कि अगर अरविंद पांडे किसानों के इतने बडे हितैषी हैं ,तो क्या उन्हें वो मजबूर लाखों किसान नजर नहीं आए जो सडकों पर दिन रात कई दिनों से कृषि बिल के खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं।आखिरकार किसानों के जयचंद बनते हुए उनका ज़मीर बिल्कुल भी नहीं डगमगाया!जबकि वे किसानों के हितैषी बनने का ड्रामा कर रहे हैं,क्यों किसानों के प्रति बीजेपी अब इस तरह का हथकंडा अपना रही है?क्यों उत्तराखंड के मंत्री अब जगह जगह पत्रकार वार्ता करके किसानों को गुमराह करने का भद्दा मज़ाक उनसे कर रही है?क्यों ये नेता किसानों के साथ अब गद्दारी पर उतर आए हैं?
आप प्रवक्ता नेगी ने कहा कि भाजपा अब अपने कार्यकर्ताओं को किसान बताकर ,उनसे गद्दारी करने से बाज नहीं आ रहे हैं । खुद को किसानों का हितेषी बताने वाले ऐसे जयचंदो की उत्तराखण्ड में कोई जगह नहीं है। किसान ऐसे जयचंदों को अब अच्छे से पहचान चुकी है।एक तरफ पूरा देश आज किसानों के आंदोलन के साथ खडा है,दूसरी तरफ उत्तराखण्ड के बीजेपी नेता,मंत्री सभी किसानों को बरगलाने और गुमराह करने के लिए किसी भी हद तक जाने से गुरेज नहीं कर रहे हैं!आप पार्टी ये मांग करती है कि शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे किसानों से माफी मांगे और ये बताएं कि आखिर किसानों के साथ भद्दा मजाक करने का हक उन्हें किसने दिया,किसानों के साथ मजाक और खिलवाड किसी भी हाल में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और किसानों को अपना समर्थन जारी रखते हुए आप पार्टी लगातार इस संघर्ष में किसानों के साथ खडी है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY