यूपी में काँग्रेस को बड़ा झटका राहुल गाँधी के नजदीकी जितिन प्रसाद बीजेपी में शामिल!..

0
228

जागो उत्तराखण्ड ब्रेकिंग

यूपी में काँग्रेस को बड़ा झटका राहुल गाँधी के नजदीकी जितिन प्रसाद बीजेपी में शामिल!..

जागो ब्यूरो रिपोर्ट:

2022 विधानसभा चुनाव से पहले काँग्रेस को यूपी में बड़ा झटका लगा है,ज्योतिरादित्य सिंधिया के बाद काँग्रेस सांसद राहुल गांधी की टीम से एक और सदस्य बीजेपी में शामिल हो गया है,पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद आज भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए हैं,केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने जितिन प्रसाद को पार्टी में शामिल करवाया,जितिन प्रसाद को बीजेपी में शामिल कराने के बाद केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि यूपी की राजनीति में जितिन प्रसाद की भूमिका अहम होने वाली है,वहीं, जितिन प्रसाद ने कहा कि मैंने पिछले एक दशक में अनुभव किया हैकि असल मायने में कोई संस्थागत राजनीतिक दल है, वो भारतीय जनता पार्टी है, बाकी दल तो व्यक्ति विशेष और क्षेत्र के हो गए हैं!माना जा रहा है कि उत्तर प्रदेश में काँग्रेस के बड़े चेहरों में से एक जितिन प्रसाद पिछले कई दिनों से पार्टी हाईकमान से नाराज थे,यूपी में अगले साल विधानसभा चुनाव होने वाले हैं,खबर है कि बीजेपी से ब्राह्मणों का एक बड़ा तबका नाराज है,यह नाराजगी खासतौर पर उत्तराखण्ड मूल के ठाकुर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से है,ऐसे में बीजेपी, जितिन प्रसाद को शामिल कराकर ब्राह्मणों के बीच बड़ा संदेश देना चाहती है!जितिन प्रसाद, कांग्रेस के दिग्गज नेता जितेंद्र प्रसाद के बेटे हैं,जितेंद्र प्रसाद दो प्रधानमंत्रियों राजीव गांधी और पीवी नरसिम्हाराव के राजनीतिक सलाहकार थे,2000 में जितेंद्र प्रसाद ने काँग्रेस अध्यक्ष का चुनाव सोनिया गांधी के खिलाफ लड़ा था,लेकिन वह हार गए थे,उसके बाद 2001 में जितेंद्र प्रसाद का निधन हो गया था।इसके बाद पिता जितेंद्र प्रसाद कीराजनीतिक विरासत को जितिन प्रसाद ने संभाला,2001 में वह इंडियन यूथ कांग्रेस से जुड़ गए, 2004 में जितिन प्रसाद शाहजहांपुर सीट से जीतकर पहली बार लोकसभा पहुंचे. यूपीए-1 की सरकार में जितिन प्रसाद को केंद्रीय मंत्री बना दिया गया,वह मंत्री बनने वाले सबसे युवा चेहरों में से एक थे।2009 में जितिन प्रसाद,धौरहरा लोकसभा सीट से लड़े और जीते,यूपीए-2 में जितिन प्रसाद को पेट्रोलियम और सड़क-परिवहन जैसे अहम मंत्रालय की बतौर राज्य मंत्री जिम्मेदारी मिली थी,2014 का लोकसभा चुनाव जितिन प्रसाद हार गए,इसके बाद से ही जितिन प्रसाद के राजनीतिक सितारे गर्दिश में चल रहे थे।चर्चा है कि जब से यूपी कांग्रेस की कमान प्रियंका गांधी वाड्रा के हाथ में है और यूपी प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार उर्फ लल्लू बनाए गए हैं, तब से जितिन प्रसाद को यूपी कांग्रेस में तवज्जो नहीं मिल रहा था।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY