पौड़ी जनपद में कुमाऊँ मण्डल से कोरोना संक्रमण की “बैक-डोर इंट्री”!टोके जाने पर आँगनबाड़ी से भिड़ा पटवारी..

0
265

पौड़ी जनपद में कुमाऊँ मण्डल से कोरोना संक्रमण की “बैक-डोर इंट्री”!टोके जाने पर आँगनबाड़ी से भिड़ा पटवारी..

जागो ब्यूरो रिपोर्ट:

पौड़ी जनपद देश के चुनिंदा जनपदों में है,जो ग्रीन जोन में है,लेकिन इस जनपद पर कोरोना संक्रमण का खतरा लगातार मंडरा रहा है,जनपद की कुमाऊँ मण्डल से लगी सीमा जोकि पौड़ी जनपद की धुमाकोट व थैलीसैंण तहसील के अन्तिम छोर से नैनीताल जनपद के रामनगर और रसिया महादेव,सराई खेत होते हुए अल्मोड़ा जनपद के सल्ट क्षेत्र से जुड़ जाती है ,ये सारा इलाका पुलिस की पहुँच से दूर और राजस्व पुलिस के देखरेख में है,नैनीताल जनपद के रामनगर व उधमसिंहनगर जनपद के काशीपुर,बाजपुर के कुमाऊँ मण्डल के बड़े इलाके समेत उत्तर प्रदेश के बरेली,मुरादाबाद और कई रेड जोन यँहा से ज्यादा दूर नहीं,इस संवेदनशील इलाके से लगातार गढ़वाल क्षेत्र में काम करने वाले कर्मचारी और गलत पास बनवा कर लोग आ जा रहे हैं,अभी हाल ही में बाजपुर के एसडीएम एपी बाजपेई ने एक बोलेरो को थैलीसैंण आने की अनुमति दे दी इस बोलेरो में चार लोग सवार थे,जबकि नियमतः चार पहिया वाहन में दो लोगों को ही परिवहन की स्वीकृति दी जा रही है, लेकिन ये लोग अनुमति लेकर देर रात थैलीसैंण पहुंच गये,उसके बाद स्थानीय लोगों के विरोध करने पर उप जिलाधिकारी थैलीसैंण को रात को ही इन लोगों को वापस बाजपुर भेजना पड़ा,अब एक नया मामला प्रकाश में आया है धुमाकोट तहसील की गौलीखाल चौकी का एक पटवारी जिसका नाम दिलशाद खान बताया जा रहा है,एक आंगनबाड़ी कार्यकर्ती से भिड़ गया

दरअसल इस पटवारी का आवास उधमसिंहनगर में बताया जाता है जो कि ऑरेंज जोन में है,यह वहां से यह लगातार मोटरसाइकिल से आ जा रहा है,UK18 0741 रजिस्ट्रेशन नम्बर की इस मोटरसाइकिल के दस्तावेज जब ऑनलाइन चेक किये गये तो इस मोटरसाइकिल के पॉल्युशन और इंश्योरेंस कागजात भी मौजूद नहीं है,पटवारी ने अपनी निजि मोटरसाइकिल में “पुलिस” लिखवा रखा है

जब यह पटवारी बिना मुंह पर मास्क लगाए हुए यहां से गुजर रहा था तो स्थानीय आँगनबाड़ी कार्यकर्ती आशा ने उसे रोका कि आप कैसे बिना मास्क लगाकर यहां आ जा रहे हैं?आंगनबाड़ी कार्यकर्तियों को ग्रामीणों को कोरोनावायरस से संक्रमण से सम्बंधित जानकारी और रोकथाम के लिये शासन और प्रशासन द्वारा निर्देशित किया गया है,ऐसा पूछे जाने पर यह पटवारी आँगनबाड़ी कार्यकर्ती से भिड़ गया और उसका मोबाइल छीन लिया,जानकारी प्राप्त हुयी है कि उक्त पटवारी घटना को साम्प्रदायिक रंग देकर मामले से प्रशासन का ध्यान भटकाना चाहता है,शायद इसी वजह से जनपद प्रशासन पौड़ी और पुलिस किसी ने भी उस पर अभी तक कोई कार्यवाही नही की है,उधर इस इलाके के एसडीएम रविंद्र सिंह बिष्ट “जागो उत्तराखण्ड” द्वारा बार-बार संपर्क करने पर भी फोन नहीं उठा रहे हैं, घटना को लेकर आँगनबाड़ी प्रदेश संगठन में भी खासा रोष है संगठन की प्रदेश अध्यक्ष रेखा नेगी ने जिलाधिकारी और पुलिस-प्रसाशन से इस मामले में शीघ्र कार्यवाही की माँग की है,ऐसा न होने पर उन्होंने कार्य बहिष्कार की भी धमकी दी है,यही हालात रहे तो कुमाऊँ मंडल से पौड़ी जनपद के थैलीसैंण और धुमाकोट तहसील की तरफ से लोग यूँ ही आराम से आते जाते रहेंगें और न जाने कब-कौन कोरोना संक्रमण के लिये माचिस की तीली का काम कर दें!दो दिन बाद तीन मई को प्रदेश के आठ-नौ जनपदों जिसमें पौड़ी जनपद भी शामिल है के ग्रीन जोन में होने की वजह लॉकडाउन खुलने के बाद यहां के बाशिन्दों को काफ़ी हद तक कामकाज करने की छूट मिलने की प्रबल सम्भावना है,लेकिन पौड़ी का पुलिस-प्रशासन इस “बैकडोर इंट्री” के बारे में अभी भी न चेता तो कुमाऊँ से इस “बैकडोर इंट्री” से सबकी मेहनत बर्बाद होने का भी खतरा साफ़ नज़र आ रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here