रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मसूरी में उद्घाटन समारोह में की शिरकत, बोले- पहले जैसा नहीं रहा देश…

0
31

मसूरी: उत्तराखंड में आज रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defence Minister Rajnath Singh) मसूरी में एक कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे। यहां उन्होंने एलबीएसएनएए (लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन अकादमी) में ’28वें संयुक्त नागरिक-सैन्य प्रशिक्षण कार्यक्रम’ का उद्घाटन किया। इस दौरान समारोह में उन्होंने कहा कि दुनिया के देश भारत का लोहा मान रहे हैं। कहा कि भारत अब पहले जैसा देश नहीं रहा। उन्होंने जहां भारत की तारीफ की तो वहीं चीन और पाक को आड़े हाथ लिया।

मीडिया रिपोर्टस के अनुसार रक्षा मंत्री राजनाथ ने लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन अकादमी मसूरी में ज्वॉइंट सिविल मिलिट्री ट्रेनिंग प्रोग्राम (28th Joint Civil Military Training Programme) का शुभारंभ किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि नागरिक-सैन्य समन्वय महत्वपूर्ण है। हम सशस्त्र बलों में पूरी तरह से संयुक्तता स्थापित करेंगे। उन्होंने कहा भारत अब पूरी तरह से आत्मनिर्भर हो चुका है।

चीन या पाकिस्तान का नाम लिए बिना रक्षा मंत्री राजनाथ ने कहा कि किसी भी विदेशी साजिश  को नाकाम करने के साथ ही जवाब देने की भारत पूरी हिम्मत रखता है। उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय जगत में भारत की छवि बहुत बदली है। कहा कि सारी दुनिया ने अब यह मान लिया है कि भारत अब किसी भी सूरत में कमजोर भारत नहीं है। भारत एक ताकतवर देश के रूप में उभरा है।

अपने दुश्मनों के खिलाफ भारत आक्रामक रुख भी इख्तियार कर देश की अंतरराष्ट्रीय सीमाओं की रक्षा कर सकता है। पीएम मोदी और केंद्र  के आठ साल के कार्यकाल को रक्षा मंत्री सिंह ने बेमिसाल करार दिया है। उनका कहना है कि देश में आमजन के जीवन स्तर में भी काफी सुधार हुआ है। उन्होंने आगे कहा कि भारत कभी किसी देश के साथ युद्ध नहीं चाहता और आज तक भारत ने किसी दूसरे देश की जमीन पर कब्जा नहीं किया है।

भारत ‘वसुधैव कुटुम्बकम’ की भावना में विश्वास करता है. लेकिन, भारतीय सेना देश की सीमाओं की रक्षा के लिए हमेशा तैयार रहती है। अलग-अलग टेक्नोलॉजिकल, इंटरनल सिक्योरिटी हैं। सभी चुनौतियों के लिए सभी को एकजुट होकर काम करना है, इससे देश को मजबूत बनाया जा सकता है।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मसूरी में उद्घाटन समारोह में की शिरकत, बोले- पहले जैसा नहीं रहा देश…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here