उत्तराखण्ड की पारम्परिक संस्कृति को बचाने का प्रयास करती सतपुली की होलियार टीम..

0
358

उत्तराखण्ड की पारम्परिक संस्कृति को बचाने का प्रयास करती सतपुली की होलियार टीम..

भगवान सिंह,जागो ब्यूरो रिपोर्ट:

पौड़ी जनपद की नयारघाटी सतपुली की होली के हुल्यार टीम पौडी गढवाल के विभिन्न स्थानों में जाकर उत्तराखण्ड की लोकसंस्कृति की विरासत,खड़ी होली से सभी लोगो को परिचित करवा रही है,टीम ने पर्यटन नगरी लैंसडाउन बाजार में होली के हुल्यारों ने गढ़वाली लोकसंस्कृति की पहचान पारम्परिक खड़ी होली के मधुर गीतों से मधुर छठा बिखेरी,होली के पारंपरिक गीत हरा फूलों से मथुरा, मत मारो मोहन लाल पिचकारी आदि गीतों को क्षेत्रीय जनता ने बहुत सराहा और हुल्यारों का जोरदार स्वागत किया,होली के हुल्यारों की टीम सतपुली ने जयहरीखाल स्थित आशियाना बृद्ध आश्रम में बृद्ध जनों के साथ होली मनायी और बृद्ध जनों को फल व गुजिया मिठाई बाँटकर होली के गीतों साथ होली मनायी,हुल्यारों की टीम में मनीष खुगशाल “स्वतन्त्र” प्रेम सिंह रावत, गुमान सिंह रावत, मुकेश चन्द,देवेन्द्र चौहान, सौरभ, डब्बल सिंह मियां, प्रेम सिंह, हरीश जेरवान, जैकी भाई,सौरभ, , उमंग मियां, दानिश, सतीश खुगशाल आदि शामिल थे ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here