जब तक मैं ज़िंदा हूँ,सहसपुर को ट्रंचिंग ग्राउंड और पशु निस्तारण गृह की आड़ में बर्बाद नहीं होने देंगे – “आज़ाद अली”

0
132

जब तक मैं ज़िंदा हूँ,सहसपुर को ट्रंचिंग ग्राउंड और पशु निस्तारण गृह की आड़ में बर्बाद नहीं होने देंगे – “आज़ाद अली”
जागो ब्यूरो रिपोर्ट:

विशेष आमंत्रित सदस्य,काँग्रेस कमेटी, उत्तराखण्ड,आज़ाद अली ने भाजपा सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुये आरोप लगाया है कि सहसपुर में कई साल से जनता के घोर विरोध के बाद भी बीमारी और प्रदूषण का अड्डा बन चुका ट्रंचिंग ग्राउंड सहसपुर के लिए एक कलंक और बड़ा खतरा बन चुका है,जिसकी वजह से न केवल लोगों का जीना मुहाल हो चुका है,बल्कि स्थानीय बुजुर्गों बच्चों और महिलाओं की ज़िंदगी भी हर समय किसी बीमारी के खतरे में पड़ी हुयी है,ऐसे में जब कोरोना और डेंगू की दोहरी मार से जनता डरी है और सरकारी अस्पतालों का हाल बेहाल है,ऐसे में आज कूड़ा,घर से सहसपुर वासियों को उठाना पड़ रहा है,इसके लिये उन्होंने त्रिवेंद्र सरकार को चेतावनी दी है,कि अभी भी समय है वह अपनी गलती को सुधार लें और सहसपुर की भोलीभाली शांत जनता को आंदोलन करने को मज़बूर न करें, क्योंकि स्थानीय विधायक सहदेव पुंडीर के हाथों छली गयी सहसपुर की जनता पहले से ही निराश और हताश है,ऐसे में सरकार की अनदेखी त्रिवेंद्र सरकार को बहुत भारी पड़ सकती है,उन्होंने त्रिवेन्द्र को निशाने पर लेते हुये कहा कि”आप तो सुख सुविधा,सुरक्षा और डॉक्टरों की निगरानी में भी कई बार क्वारंटाइन हो चुके हैं,आपके भारी भरकम मन्त्री भी कोरोना से नहीं बच पाए और तो और आपके पार्टी अध्यक्ष और विधायक भी कोरोना संक्रमित हो गये,फिर ज़रा सोचिये आपके ही राजधानी से सटे सहसपुर को आपने कितने बड़े खतरे में डाल रखा है!न अस्पताल में सुविधाएं है न डॉक्टर्स और न कोरोना टेस्टिंग की कोई सुविधा,आप इतने संवेदनहीन कैसे हो गए इसका आज सहसपुर की जनता जवाब मांग रही है”आज़ाद अली ने कहा कि उन्होंने बीते कई सालों से सहसपुर की गली-गली सड़क सड़क लोगों की समस्याएं सुनी और समझी हैं,लोग आज स्थानीय विधायक से त्राहि माम कर रही है,क्योंकि न तो विधायक जी जनता से मिलते हैं और न ही उनकी फ़रियाद पर कोई कार्यवाही करते हैं!हताश और निराश सहसपुर के युवा बुजुर्ग और महिला शक्ति को अपनी चुनी हुयी सरकार से कई सवालों का जवाब चाहिए! आज सरकार की कुम्भकर्णी नींद से बेहद निराश आज़ाद अली सहसपुर विधान सभा की सम्मानित जनता की तरफ से लोकतान्त्रिक तरीके से भाजपा सरकार से तीन मांगे हैं जिनपर जल्द कार्यवाही नहीं हुयी तो बड़ा जनांदोलन खड़ा होगा और जनता सड़कों पर उतर कर विधायक और सरकार से हिसाब मांगेगी ।

सहसपुर की पहली मांग —- त्रिवेंद्र सरकार सहसपुर की जनता की ज़िंदगी से खेलना बंद करे और कोरोना महामारी और डेंगू की आफत की गंभीरता को समझते हुए तुरंत ट्रंचिंग ग्राउंड के विस्थापन की व्यवस्था करे और उसको सहसपुर की विधान सभा क्षेत्र से बाहर करें।पत्रकार साथियों आप भी तो उसी खतरे के बीच जी रहे हैं क्या आपको सड़ांध बदबू और दूषित प्रदुषण से निजात नहीं चाहिए ? सहसपुर की सम्मानित जनता हैं आप और आपका परिवार , क्या आपको नहीं लगता कि क्यों आधी अधूरी योजना के बीच जानलेवा बदबू और अस्पतालों से निकले कोरोना मरीज़ों के मेडिकल वेस्ट को भी हमारे सहसपुर में ही डंप किया जा रहा है ? हालत ये है की उस खतरनाक मेडिकल वेस्ट को ट्रेंचिंग ग्राउंड वाले अंदर आने ही नहीं दे रहे हैं ऐसे में आपको बता दूँ कि उस मौत के सामान को बाहर ही बाहर निपटाया जा रहा है।जिसका प्रदुषण आज किसी बड़े खतरे को भी पैदा कर सकता है , मैं पूछता हूँ सरकार और हमारे विधायक कहाँ सोये हुए हैं ? क्या उन्हे सहसपुर वालो की जान और सेहत की कोई चिता नहीं है ? सहसपुर के विधायक सहदेव पुंडीर सिर्फ जनता को बेवकूफ समझ कर दिखावे का ढोंग और विरोध करते है एक दो जगह दबाव पड़ा तो बयान दे कर पल्ला झाड़ लिया ….. क्या इसी लिए सहसपुर की जनता ने उनको विधायक बनाया था ? क्या भाजपा की यही रीति नीति और असली सियासत है ? अब ये गंदा खेल बंद करना होगा विधायक जी आपको जनता के सवालों का जवाब देना होगा ….. सड़क पर उतरो और असलियत में सहसपुर की समस्याओं का सामना करो या इस्तीफा दे दो ….. आप मीडिया बंधुओ के ज़रिये मैं सहसपुर वासियों की तरफ से सूबे के मुख्यमंत्री जी से पुरजोर मांग करता हूँ वो गंभीरता से तुरंत सहसपुर के हित में फैसला करें और इसे यहाँ से हटाकर कहीं दूसरी जगह स्थापित करवाएं.. और सहसपुर विधायक जी से कहना चाहूँगा कि वो दिखावे का विरोध बंद करें क्योकि इस बार सहसपुर वाले किसी षड़यंत्र या चालबाजी में नहीं फसने वाले हैं …

2 .अब एक और बड़ा मुद्दा सामने आया है मेरे मीडिया भाइयों मेरी जानकारी में आया है कि सहसपुर को पशु निस्तारण गृह बनाने के लिए चुना गया है…आपके माध्यम से मैं पूछना चाहता हूँ सरकार से…… भाई क्या पाप कर दिया हम सहसपुर वालों ने जो एक के बाद एक ऐसी जानलेवा सौगातें दे रहे हो मुख्यमंत्री जी , क्या सहसपुर को आपने बर्बाद करने के लिए ही चुन लिया है ? मैं न तो पशु निस्तारण के खिलाफ हूँ न ही पशु निस्तारण गृह के,, मैं भी चाहता हूँ कि सरकार इस पर गंभीरता से काम कर जल्द से जल्द पशुओं के निस्तारण का इंतजाम करे, सरकार के इस फैसले की मैं सराहना करता हूँ,, लेकिन सरकार ये सुन ले कि आज़ाद अली सहसपुर में पशु निस्तारण गृह नही बनने देगा,, आप अपनी विधान सभा डोईवाला में क्यों नहीं बनाते कूड़ा घर और पशु निस्तारण केंद्र … क्यूंकि आप जानते हैं आपका विरोध आपके क्षेत्र में शुरू हो जायेगा फिर सहसपुर से ऐसा खिलवाड़ क्यों ? आपको मैं आज चुनौती देता हूँ जनता की जान से अब खिलवाड़ नहीं होने दिया जायेगा … ट्रचिंग ग्राउंड के समय कुछ लोग जरुर षड्यंत्र और लालच में आकर सहसपुर पर अभिशाप का बदबूदार दाग लगा कर भाग गये हों पर आज़ाद अली आज भी अपने सहसपुर की मासूम जनता के हितों के लिए अपना जी जान लड़ा देगा,,, मैं पूछना चाहता हूँ सहसपुर विधायक से और उनको इसका जवाब देना होगा,, क्या गुनाह है हमारा ? क्या आपको विधायक इसी लिए बनाया था की आप ट्रेन्चिंग ग्राउंड जैसे मौत के कुएं को हमारी छाती पर बैठा दिया अब आप क्या वहां लाशें भी सडवाओगे,, विधायक जी याद कीजिये अपने प्रदेश अध्यक्ष की सलाह को,, 2022 दूर नहीं..घर से निकलिए और सहसपुर के दर्द को जानिए…. वरना जनता सड़कों पर खुल कर आपका विरोध करने को मज़बूर हो जाएगी।

3 .मेरे मीडिया बंधुओं अब मैं आपके सामने तीसरा बिंदु भी लाना चाहता हूँ ये भी बढ़ा गंभीर विषय है और मेरी सरकार से मांग हैं कि वो इस बारे में तत्काल कार्यवाही अमल में लाये,, ताकि सहसपुर में बढ़ रहे कोरोना के मामलों पर लगाम लग सके,,, दोस्तों आप जानते ही हैं कि सहसपुर में सेलाकुई औद्योगिक इकाई हैं और सहसपुर में कोरोना के मामले बढ़ने की एक बढ़ी वजह ये भी है.. मेरी माननीय मुख्यमंत्री जी से और स्वास्थय विभाग से भी ये मांग है कि कोरोना की रोकथाम के लिए सहसपुर में कोरोना टेस्टिंग की संख्या तुरंत बढ़ाएं,, जिससे सहसपुर निवासियों की रक्षा हो सके,, ये बहुत जरूरी है क्योकि आर्थिक मार झेल रहे लोगो में इतनी क्षमता नही है कि वो इलाज में लाखो रूपये खर्च कर सकें वैसे भी हम सहसपुर वालों ने विधायक सहदेव पुंडीर से उम्मीद ही छोड़ दी है कि वो सहसपुर के लिए कुछ करेंगे.. वैसे भी लोग कहते हैं नसीब से बने विधायक हैं.. पर पुंडीर जी अब नसीब नहीं रिपोट कार्ड बोलेगा.. याद कर लीजिये बंशीधर जी की सलाह को,, काम को वोट मिलेंगा अब न तो मोदी जी का नाम काम आएगा और न ही नसीब से बार बार छीका टूटता है.. इस मौके पर ग्राम प्रधान हसनपुर शराफत अली, ग्राम प्रधान रामपुर प्रधान पति तनवीर अली, ग्राम पंचायत सदस्य भुड्डी प्रवीण पाल, राहुल प्रियंका गांधी सेना के विधानसभा सहसपुर अध्यक्ष शोबत सजवाण, इकराम मलिक,आदि कई जनप्रतिनिधि मौजूद रहे।

 

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY