बाबा केदारनाथ मंदिर के कपाट बन्द..

0
270

बाबा केदारनाथ मंदिर के कपाट बन्द..

भगवान सिंह,जागो ब्यूरो रिपोर्ट:

ग्यारहवें ज्योतिर्लिंग बाबा केदार के कपाट शीतकाल के लिये बन्द हो गये हैं,विधिविधान व पूर्जा अर्चना के आज भैयादूज के अवसर पर प्रात 8.30 बजे बाबा केदार के कपाट शीतकाल के लिये बन्द हो गये हैं,इस वर्ष अब तक बाबा केदारनाथ में रिकार्ड 9,94,701 तीर्थयात्रियों ने दर्शन किये हैं,बीते वर्ष 2018 में बाबा केदार के दरबार में 7,32,241 तीर्थयात्रियों ने मत्था टेका था,बाबा केदार में तीर्थयात्रियों की संख्या में इस साल जबरदस्त उछाल आया है,कपाट बन्द होते ही बम बम भोले के जयकारों से बाबा की पंचमुखी डोली शीतकालीन गद्दीस्थल के लिए हुई रवाना हो गयी है,करोड़ों हिन्दुओं के आस्था के प्रतीक ग्यारहवें ज्योतिर्लिंग बाबा केदार के कपाट शीतकाल के लिए देश-विदेश के भक्तों के लिए बन्द हो गए हैं , आज भैयादूज के पावन त्यौहार के मौके पर ही सदियों से बाबा केदारनाथ, यमनोत्री समेत तुंगनाथ और मध्यमेहश्वर के कपाट शीतकाल में बन्द होने की पौरांणिक परम्परा है, आज प्रातकाल से ही बाबा केदार की केदारनाथ धाम में पूजा अर्चना हुई, विधिवत पूजा अर्चना के बाद भगवान केदारनाथ जी के कपाट प्रात 8.30 बजे बंद किए गये, जिसके बाद भक्तों द्बारा भोलेनाथ उदघोष के साथ केदार की पंचमुखी चल विग्रह डोली केदारनाथ धाम से रवाना होकर रामपुर पहुचेगी, जहा रात्रि प्रवास भी होगा, रामपुर में इस मौके पर केदार महोत्सव का भव्य आयोजन होगा, रामपुर के बाद 30 अक्टूबर को बाबा केदार की डोली गुप्तकाशी स्थित बाबा विश्वनाथ मंदिर में प्रवास करेगी, और 31 अक्टूबर को बाबा केदार की डोली अपने शीतकालीन गद्दी स्थल ओंकारेश्वर मंदिर में पहुचेगी, जहां पूरे शीतकाल के दौरान बाबा केदार की पूर्जा अर्चना की जाती है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here