नवनिर्मित कंडोलिया पार्क को लीज पर देने की प्रक्रिया में भ्रष्टाचार की सड़ांध!..

0
627

नवनिर्मित कंडोलिया पार्क को लीज पर देने की प्रक्रिया में भ्रष्टाचार की सड़ांध!..

स्वप्निल धस्माना,जॉगो ब्यूरो,पौड़ी

एक ओर जहां जिलाधिकारी पौड़ी धीराज गर्ब्याल द्वारा पौड़ीवासियों को कण्डोलिया पार्क के रूप में तोहफा दिये जाने को लेकर उनकी वाहवाही हो रही है ,वहीं पर्यटन विभाग पौड़ी द्वारा कण्डोलिया पार्क में बने रेस्टोरेंट्स ओर कोटेज को लीज पर देने की टेंडर प्रक्रिया पर गम्भीर प्रश्न चिन्ह लग रहे हैं !आवेदनकर्ताओं का कहना है कि विगत 19 जनवरी को जिलाधिकारी पौड़ी द्वारा कण्डोलिया पार्क स्थित रेस्टोरेंट ओर काटेज के लिए अखबार में निविदा प्रकाशित की गयी,जिसमें कहा गया कि निविदा फॉर्म किसी भी कार्य दिवस पर पर्यटन विभाग से  प्राप्त सकते हैं,लेकिन जब आवेदनकर्ता 22जनवरी को पर्यटन कार्यालय पहुंचे,तो उन्हें निविदा के बारे में जानकारी देते हुये बताया गया कि विज्ञप्ति में संशोधन जिलाधिकारी कार्यालय से होना है और अभी आपको कुछ नहीं मिलेगा,इसके बाद आवेदनकर्ता सोमवार को 11 बजे फिर पर्यटन विभाग पौड़ी पहुँचे,लेकिन संबंधित विभागीय अधिकारी द्वारा आवेदन पत्र का शुल्क ₹-2360 बताया गया,आवेदन पत्र का इतना ज्यादा मूल्य हैरतअंगेज है!शायद ये इसलिये किया गया है कि कोई भी बेरोजगार या जनसामान्य आवेदन पत्र ही न ले सके,साथ ही आवेदन पत्र के साथ आवेदन करने हेतु जरूरी गाइडलाइन भी बताने से मना कर दिया गया!जो इस विज्ञप्ति पर गम्भीर सवालिया निशान लगाता है और साफ़ आभाष होता है,कि कहीं ऐसा किसी व्यक्ति विशेष को फायदा पहुंचाने के लिए विज्ञप्ति में संशोधन तो नहीं किया जा रहा है? जानकारी है कि अगले सप्ताह मुख्यमंत्री उत्तराखंड सरकार के द्वारा इस पार्क का उद्धघाटन किया जाना है,”जागो उत्तराखण्ड” पौड़ी संवाददाता द्वारा पर्यटन विभाग के संबंधित अधिकारी को अपना परिचय देने के बाद नोटिस बोर्ड पर विज्ञप्ति संबंधी जानकारी चस्पा कर दी गयी है,लेकिन उसमें भी जो शर्तें दी गयी हैं,उसके हिसाब से पौड़ी का कोई बेरोजगार युवा या जनसामान्य इस आवेदन प्रक्रिया में हिस्सा भी नहीं ले सकता,बहरहाल घालमेल कर नवनिर्मित कंडोलिया पार्क को किसी चहेते को दिये जाने की सड़ांध को “जागो उत्तराखण्ड” ने भाँप लिया है और सम्पूर्ण घटनाक्रम पर नज़र बनाये हुये है!

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY