“आप” की टीम आपदाग्रस्त तपोवन क्षेत्र के लोगों को राहत कार्यों का जायज़ा लेने मौक़े पर..

0
157

“आप” की टीम आपदाग्रस्त तपोवन क्षेत्र के लोगों को राहत कार्यों का जायज़ा लेने मौक़े पर..

जागो ब्यूरो रिपोर्ट:

आज आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष युवा मोर्चा दिगमोहन नेगी,प्रदेश उपाध्यक्ष शिशुपाल रावत व प्रदेश उपाध्यक्ष विनोद कपरवान कार्यकर्ताओं के साथ चमोली जिले के आपदाग्रस्त तपोवन व रैंणी गाँव पहुँचे और प्रभावित परिवारों से मिलकर अपनी संवेदनाएं व्यक्त की,सात फरवरी को ग्लेशियर टूटने से त्रासदी स्थल रैणी गाँव और तपोवन क्षेत्र में भारी जनधन की हानि हुई थी,जिसमें 200 से अधिक जानें गयी,सैकड़ों मवेषी, 2 पॉवर प्रोजेक्ट,सहित 5 पुल पूरी तरह टूट गये हैं,जिससे कई गाँवों का संपर्क पूरी तरह से टूट गया है,जिन परिवारों ने अपनों को खोया वो आज भी मृत व लापता शवों के इंतजार में व्यथित हैं। एक टनल में जिसमें लोग अभी भी फंसे हुये हैं,उनकी भी जिंदा रहने की उम्मीद अब खत्म होती नजर आ रही है,वहाँ अभी भी लगातार बचाव कार्य चल रहा है,बचाव कार्य में ITBP, SDRF, ARMY,NDRF, स्थानीय पुलिस, प्रशासन और स्वयंसेवी संगठन बहुत अच्छे समन्वय से काम कर रहे हैं। सन 2013 में आई केदारनाथ आपदा के बाद से बदलते जलवायु, पिघलते ग्लेशियर पर शोध व इससे बचाव की दिशा में जो काम होने थे,वो  नही हुये हैं,ग्लेशियर कोई एक घंटे या एक मिनट में नहीं फटा,जरूर कुछ संकेत रहे होंगे,जिसपर पहले से नजर रखी जानी जरूरी थी,लोगों को पहले से आपदा की सूचना मिली होती तो बहुत सारी जान बचाई जा सकती थी,उत्तराखण्ड के लिए क्लाइमेट चेंज एक भयावह सत्य के रूप में दिखाई दे रहा है, न जाने और कितने ग्लेशियर हैं जो कभी भी टूट कर लोगों पर कहर बनके बरस सकते हैं,इस विषय पर गहन शोध की आवश्यकता है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY