All weather road cutting invites massive disaster for villagers on Rishikesh-Narendranagar-Tehri NH…

0
319

आल वैदर ऱोड कटिंग से ऋषिकेश-नरेन्द्रनगर-टिहरी NH पर स्थित आगर गाँव पर भू-स्खलन का बड़ा खतरा…

अरुण नेगी,जागो उत्तराखण्ड,नरेंद्रनगर


आल वैदर रोड प्रोजेक्ट बन गया है ग्रामीणों के लिए बड़ी मुसीबत, इसका जीता जाता उदाहरण ऋषिकेश-नरेन्द्रनगर-टिहरी NH पर आगराखाल के पास स्थित आगर गाँव बन गया है, ऑल वैदर रोड कटिंग के कारण लोगों के खेत खलियान तो नष्ट हो ही गए हैं, साथ ही उनके आवासीय भवन भी अब खतरे की जद में है, लोगों के घरों में बड़ी-बड़ी दरारें पड़ गई है और अब उन्हें डर है कि अगर बरसात हुई तो उनका व उनके परिवार कैसे सुरक्षित रहेगा?ग्राम सभा आगर पहुँचकर पूर्व विधायक ओम गोपाल रावत ने स्थिति का जायजा लिया और सड़क कटिंग का काम कर रहीगावर्ड कंस्ट्रक्शन कंपनी फरीदाबाद के कॉन्ट्रेक्टर रणवीर सिंह पंवार व प्रोजेक्ट मैनेजर अनिल तोमर को बुलाकर ग्रामीणों की समस्याएं व उनके निस्तारण के लिए तत्काल उचित कदम उठाने की मांग की,साथ ही प्रशासन को आगाह किया कि अगर उनके द्वारा आगर गाँव की अनदेखी की गई,तो वह ग्रामीणों के साथ मिलकर मजबूर होकर आंदोलन कर नेशनल हाईवे जाम करने पर मजबूर होंगे, आपको बता दें कि ग्रामसभा आगर के लगभग एक दर्जन परिवार पूरी तरह खतरे की जद में है, उनका कहना है, कि उन्हें जिन खेतों का मुआवजा दिया गया उससे कही अन्दर तक खेत व भवन सड़क कटिंग की वजह से हो रहे भूस्खलन की जद में आ गये हैं,ग़ाँव के बलवीर सिंह ,मेहर सिंह, राकेश सुंदर सिंह, रायचंद सिंह आदि का कहना है कि उनके खेत जिनका उन्हें मुआवजा तक नहीं मिला कटिंग के कारण पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए हैं,उन पर बड़ी-बड़ी दरारें पड़ चुकी है,इन खेतों में उनके द्वारा अदरक व अरबी की खेती भी की हुयी थी वह भी बर्बाद हो गयी है,साथी ग्रामीण धर्म सिंह,भागचंद सिंह, विक्रम सिंह, कमल सिंह, शिव सिंह, कुंवर सिंह आदि का कहना है कि कटिंग के कारण उनके आवासीय भवन व आँगन भी क्षतिग्रस्त हो गए हैं,उनके द्वारा इस बाबत प्रशासन को भी अवगत कराया गया, लेकिन आज तक उनके यहां कोई उनके हालात जानने नहीं आया,ग्राम सभा के प्रधान शिव सिंह रावत व दयाल सिंह रावत ने कहा कि आगर ग़ाँव के ऊपर बड़ी-बड़ी दरारें पड़ गई है और सड़क से नीचे रह रहे आगर ग़ाँव के ग्रामीण भयभीत है,बरसात में सड़क के नीचे रह रहे ग्रामीणों को
भूस्खलन में दबने का बड़ा खतरा बना हुआ है,ग्रामीणों ने शासन-प्रशासन से तत्काल उनकी सुध लेनी की गुहार लगाई है…

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY