लाखों के सरकारी भवनों को बिना उपयोग में लाये बर्बाद करने की जिम्मेदारी किसकी?…

0
367

लाखों के सरकारी भवनों को बिना उपयोग में लाये बर्बाद करने की जिम्मेदारी किसकी?
जागो ब्यूरो रिपोर्ट:

आपको अपने इलाक़े में कई ऐसे सरकारी भवन दिखायी देते होंगे,जिनको बिना उपयोग में लाये बर्बादी के कगार पर पहुँचा दिया गया है,बेशक ये अगर ये किसी की निजि सम्पत्ति होती तो ऐसा न होता और इन भवनों का कुछ न कुछ सदुपयोग होता ,दरसअल ये हमारी समझ का फेर है कि ये सरकारी सम्पति हैं,हम पर क्या फ़र्क पड़ता है,दरअसल बिना प्रयोग में लाये बर्बाद किये जा रहे इन भवनों को हमारे द्वारा सरकार को टैक्स के रूप में जमा किये गये पैसे से ही बनाया गया है और ये हमारा ही आर्थिक नुकसान है,पौड़ी के गगवाड़स्यूं क्षेत्र में ल्वाली बाजार के पास लाखों रुपये की लागत से बना एक भवन पिछले लगभग दो दशक से बिना किसी उपयोग के बर्बाद हो रहा है,इस भवन में चार परिवारों के रहने के लिये चार फ्लैट भी बने हैं,आजकल सर्दियों के दिन हैं कई ग़रीब और लाचार लोग बिना छत के नीले गगन के नीचे ठिठुर-ठिठुर कर रात गुजारने को मजबूर हैं,वंही दूसरी ओर बिना उपयोग में लाये कई भवन यूँ ही बर्बाद हो रहे हैं,”जागो उत्तराखण्ड” पौड़ी के जिलाधिकारी और स्वास्थ्य विभाग के मुख्य चिकित्सा अधिकारी से अनुरोध करता है कि ल्वाली में स्थित लाखों की लागत से बने इस भवन के सदुपयोग करने हेतु शीघ्र कार्यवाही करे और आप सभी जागरूक नागरिकों से भी अनुरोध है कि अपने इलाके में बिना उपयोग में लाये जा रहे भवनों को उपयोग में लाये जाने हेतु अपने ब्लॉक, जनपद के अधिकारियों या जनप्रतिनिधियों को जागरूक करें,ये जनहित और राष्ट्रहित में हमारा एक बड़ा योगदान साबित होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here