मुख्यमन्त्री के गृहजनपद का पौड़ी ब्लॉक प्रमुख और ज्येष्ठ प्रमुख पद भीतरघात के चलते गँवाने से भाजपा कार्यकर्ताओं में उबाल…

0
401

मुख्यमन्त्री के गृहजनपद का पौड़ी ब्लॉक प्रमुख और ज्येष्ठ प्रमुख पद भीतरघात के चलते गँवाने से भाजपा कार्यकर्ताओं में उबाल…
जागो ब्यूरो रिपोर्ट:

पौड़ी ब्लॉक प्रमुख के लिये हुये मतदान में कल काँटे के मुकाबले में काँग्रेस के दीपक ख़ुगसाल ने भाजपा की अधिकृत प्रत्याशी मनीषा पटवाल को महज एक वोट के अन्तर से पराजित कर पौड़ी मण्डल मुख्यालय और जनपद मुख्यालय में स्थित पौड़ी ब्लॉक के पद को कब्ज़ा कर सत्त्तारूढ़ भाजपा को बड़ा झटका दिया है

आप जानते ही हैं कि पौड़ी मुख्यमन्त्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत का गृह जनपद है और गढ़वाल संसदीय सीट से सांसद तीरथ सिंह रावत,विधायक मुकेश कोली और राज्य मन्त्री हास्य कलाकार घनानन्द उर्फ “घन्नाभाई”सभी भाजपा से हैं, ऐसे में इस हार को विधानसभा चुनाव 2022 के लिये भाजपा के लिये नकारात्मक संदेश के रूप में देखा जा रहा है,प्रमुख के लिये मतदान करने वाले भाजपा सदस्यों जिसमें शशि रतूड़ी का नाम मुख्य रूप से लिया जा रहा है और राज्यमंत्री घनानन्द की बहू सोनिया जिसने काँग्रेस प्रत्याशी के रूप में ज्येष्ठ प्रमुख का नामांकन करके पहले ही स्पष्ठ संदेश दे दिया था,पर भाजपा प्रत्याशी की हार की पटकथा लिखने का आरोप है,राज्यमंत्री घनानन्द उर्फ घन्नाभाई की बहू सोनिया ने भाजपा प्रत्याशी भगवन्त सिंह नेगी को हरा कर ज्येष्ठ प्रमुख का पद भी काँग्रेस की झोली में डाल दिया है,कार्यकर्ताओं का आरोप है कि विधायक मुकेश कोली और राज्यमन्त्री घनानन्द उर्फ “घन्नाभाई” की इस सारे घटनाक्रम को मौन सहमति थी,क्योंकि दोनों काँग्रेस की जीत के सूत्रधार पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष केशर सिंह नेगी के नज़दीकी हैं,केशर सिंह नेगी ने कुछ समय पूर्व ही बीजेपी छोड़ काँग्रेस का दामन थामा है

इस करारी हार से उपजे आक्रोश के चलते कार्यकर्ताओं द्वारा कल शाम भाजपा जिला कार्यालय में तोड़फोड़ की गयी और भीतरघात के आरोपी शशि रतूड़ी और राज्यमन्त्री घनानन्द उर्फ “घन्नाभाई” को पद से हटाये जाने की माँग करते हुये जमकर नारेबाज़ी की गयी,अब देखना यह है कि भाजपा आलाकमान कार्यकर्ताओं के आक्रोश को किस तरह शान्त करता है?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here